श्रीडूंगरगढ़ में बाहर से कोई आया तो अब नहीं जा पाएगा घर, रहना होगा प्रशासन के आईसोलेशन सेंटर में। जाने पूरी खबर।





श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 31 मार्च 2020। तमाम प्रतिबंधों के बाद भी क्षेत्र में लगातार प्रवासी नागरिक आ रहे है एवं आने के बाद भी लापरवाही बरतते हुए किसी प्रकार के प्रतिबंध को नहीं मानते हुए खुलेआम घरों में, गलियों में एवं गांव में, बाजारों में घूम रहे है। इन लोगों के कारण पूरा श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र हाई रिस्क जोन में आ गया है एवं समस्त क्षेत्रवासियों को लॉकडाउन की पालना गंभीरता के साथ करनी जरूरी हो गई है। ऐसे लापरवाह लोगों से निपटने के लिए मंगलवार को श्रीडूंगरगढ़ में अधिकारियों की बैठक लेते हुए जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने ऐसे लोगों को अपने घरों में नहीं रहने देने के निर्देश देते हुए क्षेत्र में आईसोलेशन सेंटर शुरू करने के निर्देश दिए है। उपखण्ड अधिकारी राकेश कुमार न्यौल ने बताया कि सभी पंचायत मुख्यालयों पर वहां की सबसे बड़ी स्कूल को आईसोलेशन सेंटर बनाया गया है एवं अब क्षेत्र में आने वाले लोगों को वहीं पर रखा जाएगा। इनके अलावा भी पहले आ चुके लोगों में जो प्रशासन की हिदायतों का पालन नहीं कर रहे उन्हे भी इन सेंटरों में रखा जाएगा। प्रत्येक ग्राम पंचायत में स्कूलों में बनाए गए आईसोलेशन सेंटरों पर रखे गए इन लोगों की निगरानी के लिए शिक्षकों, पटवारियों एवं ग्रामसेवकों को जिम्मेदारी दी गई है। इसी प्रकार शहरी क्षेत्र में जयपुर पब्लिक स्कूल एवं एजी मिशन स्कूल को अधिगृहित किया गया है। इन दोनो स्कूलों में भी बाहर से आ रहे प्रवासियों को आईसोलेशन में रखा जा रहा है। कलेक्टर ने कोरोना के खिलाफ जंग में श्रीडूंगरगढ़ प्रशासन टीम के प्रयासों को सराहनीय बताया एवं और अधिक उत्साह के साथ कार्य करने को कहा है।