ग्रामीण बने पुलिस के आंख-कान, पब्लिक पुलिसिंग की अपील।




श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 4 अक्टूबर 2022। श्रीडूंगरगढ़ तहसील का सबसे बड़ा गांव है मोमासर और यहां की आबादी व बाजार, दुसरे जिले से लगती सीमा को देखते हुए यहां अपराध भी अधिक होने संभावना है। ऐसे में आवश्यकता है कि ग्रामीण पुलिस की आंख व कान बने एवं पब्लिक पुलिसिंग के माध्यम से गांव को अपराध मुक्त बनाए रखने में अपनी भूमिका निभाए। गांव मोमासर के नागरिकों से यह अपील की श्रीडूंगरगढ़ थाने में नवनियुक्त थानाधिकारी अशोक विश्नोई ने। सोमवार रात को गांव में आयोजित सीएलजी बैठक में थानाधिकारी ग्रामीणों से रूबरू हुए एवं उनकी समस्याएं सुनते हुए यातायात, सोशल मिडिया, त्योंहार, पर्व आदि के दौरान आत्मअनुशासन की अपील की। बैठक से पहले ग्रामीणों द्वारा थानाधिकारी को साफा पहनाया गया एवं शाल ओढाया गया। इस दौरान सुभाष कमलिया, जयचंद सेठिया, विद्याधर शर्मा, बजरंग सोनी, महावीर प्रसाद शर्मा, विक्रमसिंह सत्तासर, सांवरमल बरोड़, गोपालराम गोदारा, मनफुल गोदारा, सुखराम गोदारा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणों की मौजूदगी रही। मोमासर चौकी कांस्टेबल विनोद कुमार ने मोमासर चौकी के क्राइम रिकार्ड की जानकारी दी।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। ग्रामीणों ने किया थानाधिकारी का स्वागत।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव मोमासर में ग्रामीणों ने बताई अपनी समस्याएं, थानाधिकारी ने की पब्लिक पुलिसिंग की अपील।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। ग्रामीणों ने ओढाया शाल, दी सुरक्षा की जिम्मेदारी।