April 25, 2024

महिला मंडल ने धूमधाम से मनाया फागोत्सव।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। माहेश्वरी महिला मंडल की सदस्य महिलाओं ने कालूबास स्थित झंवरो के मंदिर में गुरूवार को फागोत्सव का आयोजन किया। महिलाएं अपने घरों से भी लड्डू गोपाल सजाकर लाई और खूब कृष्ण भजन गाए। महिलाओं ने रंगो व फूलों से होली खेलते हुए जयकारे लगाए। भजनों पर श्रद्धालु जमकर झूमे और ठाकुरजी को छप्पन भोग भी लगाया गया। बड़ी संख्या में महिलाओं ने आयोजन में भाग लिया।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। माहेश्वरी महिला मंडल ने धूमधाम से मनाया फागोत्सव।

थाना अधिकारी पहुंचे मोमासर, हुए ग्रामीणों से रूबरू।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव मोमासर में गुरुवार शाम को थानाधिकारी इंद्र कुमार पुलिस चौकी पहुंचे और ग्रामीणों की बैठक ली। उन्होंने प्राथमिकता के साथ अपराधियों, अवैध वाहनों, नसेडियों की धर पकड़ व यातायात व्यवस्था सुव्यवस्थित करने के बारे में ग्रामीणों से चर्चा की। उपसरपंच जुगराज संचेती, सामाजिक कार्यकर्ता विधाधर शर्मा, गोपाल गोदारा ने शाल व साफ़ा पहनाकर सीआई का स्वागत किया। शर्मा ने गांव की समस्याओ के बारे में जानकारी दी। इस दौरान गांव के बाजार व बस स्टैंड का दौरा किया व ग्रामीणों से रूबरू हुए। गांव में भामाशाह के सहयोग से लगे सीसीटीवी कैमरो की जानकारी ली व ज्यादातर कैमरे बंद होने पर उन्हें ठीक करवाने के निर्देश दिए। बैठक में हरी चोटिया, मनफूल गोदारा, बजरंग सोनी, बाबूलाल खटिक, गिरधारी खटिक, नानू नाई, सोहन प्रजापत सहित अनेक ग्रामीण मौजूद रहें।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव मोमासर में ग्रामीणों ने सीआई इंद्रकुमार व एसआई का स्वागत सम्मान किया।

 2 मार्च से 8 मार्च सनातन श्मशान भूमि में होगा भागवत का आयोजन।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। 2 मार्च से सनातन श्मशान भूमि में गौमाता भंडारा गौशाला समिति द्वारा सप्तदिवसीय भागवत कथा का आयोजन किया जाएगा। कथा वाचक संतोषसागर महाराज कथा वाचन करेंगे। कथा का समय दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक होगा। 8 मार्च को शिवरात्रि पूजन का विशेष आयोजन रात्रि 8 बजे से प्रात: पूजा पूर्ण होने तक किया जाएगा।

आड़सर में शिवेन्द्र महाराज ने भागवत का माहात्म्य सुनाया।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव आडसर में आज सप्तदिवसीय भागवत प्रारंभ हुई है। यहां कथा वाचक शिवेन्द्र महाराज ने कथा का माहात्म्य सुनाया। उन्होंने कहा कि भागवत का श्रवण ध्यान से किया जाए तो व्यक्ति महापाप से भी मुक्त हो सकता है। उन्होंने कहा कि विश्वास और आस्था से भागवत सुनने से प्रेतों की भी मुक्ति संभव होती है। महाराज ने धुंधुकारी की कथा का विस्तार से वाचन किया। इस दौरान गौकर्ण के ज्ञान का वर्णन करते हुए अहंकार से दूर रहकर ईश्वर के प्रति समर्पण की प्रेरणा दी। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने कथा में भाग लिया। आड़सर सहित आस पास के गांवो से भी श्रद्धालु कथा में पहुंचे।

error: Content is protected !!