अवैध वसूली के खिलाफ ट्रक यूनियन के धरने पर पहुंचने लगे है क्षेत्र के नेता, दे रहे है समर्थन।



श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 6 सितंबर 2021। अवैध वसूली के खिलाफ अपने ट्रकों को थाम कर भ्रष्टाचार पर लगाम लगवाने का हठ ठाने ट्रक यूनियन के लोग लखासर टोल पर बैठे है। साधारण ट्रक चालकों के धरने पर अब क्षेत्र के नेता भी पहुंचने लगे है। खनन मंत्री के काफिले को रूकवा कर अपना दर्द बयां करने के बाद मंत्री ने आश्वासन तो दिया परन्तु अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। अब क्षेत्र के नेता भी धरनास्थल पर पहुंच कर अवैध वसूली को नाजायज बता कर बंद करने की वकालत करने लगे है। रविवार को विधायक गिरधारीलाल महिया, प्रधान प्रतिनिधि केसराराम गोदारा धरने पर बैठे और आज पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा ने धरना स्थल पर पहुंच कर अपना समर्थन दिया है। क्षेत्र के सभी नेता सरकार से सख्त कानून बनाने व अवैध वसूली बंद करवा कर सामान्य ट्रक चालको को राहत देने की मांग की है।

जानें क्यों जारी है धरना, इन साईड स्टोरी।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। लगातार सात दिन से धरने पर डटे हुए ट्रक यूनियन संघर्ष समिति के रामनारायण चौधरी ने बताया कि मनमर्जी से रॉयल्टी वसूली बंद हो और सरकार द्वारा निर्धारित तय रेटों पर राॅयलटी ली जाए। रसूखदारों के ट्रकों से वसूली नहीं होने से वे बाजार में खनन उत्पाद कम दामों पर देते है तथा उनके बराबर माल नहीं दे पाने के कारण साधारण ट्रक मालिकों के ग्राहक टूटते है तथा वसूली के रूपए भी आम चालकों को भुगतने पड़ रहे सो अलग। जिनसे हमारे कारोबार को भारी घाटा झेलना पड़ रहा है। आरएलपी के नेता और संघर्ष समिति के ट्रक यूनियन विवेक माचरा ने कहा कि सरकार ने शीघ्र ट्रक यूनियन चालकों के साथ न्याय नहीं किया तो हम ट्रकों के साथ विधानसभा का घेराव करेंगे जिससे भ्रष्ट तंत्र की सच्चाई जनता के सामने आ सकें। धरने पर मोहनलाल गोदारा, भारतमाला संघर्ष समिति अध्यक्ष छोगाराम तरड़, मनीराम कस्वां, रामनिवास सेरूणा, राष्ट्रीय कृषक समाज के जिलाअध्यक्ष गोपालराम कूकणा, बीरबल कूकणा सहित सभी धरनार्थी एक स्वर में न्याय की मांग करते हुए आर पार के फैसले की बात कह रहें है।

क्यों पहुंच रहें है अब क्षेत्र के नेता?
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गौरतलब है कि क्षेत्र में ट्रक यूनियनों का धरना सात दिन से चल रहा है और क्षेत्र के नताओं के छठें दिन व सातवे दिन पहुंचने पर भी राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं चल रही है कि आखिर अब तक क्यों ये धरनार्थियों को समर्थन देने क्यों नहीं गए। राजनीति के जानकार बता रहें है कि रसूखदारों के नाराजगी नहीं झेलने के कारण क्षेत्र के नेता अब तक धरना स्थल पर नहीं जा रहें थे। परन्तु स्वयं खनन मंत्री द्वारा ज्ञापन लेने से इन्हें अपने क्षेत्र के ट्रक ऑपरेटरों की नाराजगी की चिंता भी सताने लगी और अब ये धरना स्थल पर पहुंच कर ट्रक ऑपरेटरों के लिए न्याय की मांग कर रहें है।

हो रही है पुलिस की परेड।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। लखासर टोल पर बैठे धरनार्थियों के कारण पुलिस की लखासर टोल पर ड्यूटी लग गई है और यहां पुलिसकर्मी तैनात किए गए है। स्थानीय अफसर भी यहां गश्त लगा रहें है। बता देवें पुलिस की परेड हो रही है तथा वे धरने पर नजर रखें हुए है। विधानसभा घेराव की चेतावनी के बाद श्रीडूंगरगढ़ सहित बीकानेर व जयपुर पुलिस भी धरने को अलर्ट मोड पर है और धरनार्थियों के मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा पहुंचे धरनास्थल व ट्रक यूनियन की मांग जायज बताते हुए सरकार से कार्रवाई की मांग की है।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। प्रधान प्रतिनिधि केसराराम गोदारा रविवार को पहुंचे धरनास्थल पर व अपना समर्थन दिया।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। विधायक गिरधारी लाल महिया पहुंचे धरनास्थल पर दिया समर्थन।