February 22, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 25 अक्टूबर 2020। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत के बारे में चितंनीय एडवाजरी जारी की है जो प्रत्येक भारतीय के स्वास्थ्य से जुड़ी है। डब्लयूएचओ ने कहा है कि भारतीयों में मिलावटी दूध के 2025 तक कारण कैंसर महामारी का रूप ले लेगा। इस एडवाजरी में कहा गया है कि भारत के बाजारों में बिक रहे दूध में 68.7 फीसदी में मिलावट है और इस दूध के उपयोग से कैंसर होने का खतरा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि अगर इस मिलावट पर नियंत्रण नहीं किया गया तो भारत की बड़ी आबादी कैंसर की चपेट में आ जाएगी। एडवाजरी में ये भी दावा किया गया है कि भारत में बिकने वाला 68.7 फीसदी दूध मिलावटी है। श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स आप सभी से अनुरोध करता है कि आप अपने परिवार की दूध की आवश्यकता को शुद्धता के साथ पूरा करने पर अवश्य ध्यान देवें। दूध कैंसर से लड़ने में सहायक है यह शोधों द्वारा साबित कर दिया गया है और यही दूध मिलावटी हो जाये तो सेहत का भारी नुकसान पहुंचा सकता है।
दूध के फायदे- दूध के नियमित सेवन से पेट, स्तन के कैंसर से बचा जा सकता है। बच्चों के मानसिक व शारीरिक विकास के लिए आयुर्वेद में दूध को विशेष स्थान दिया गया है। दूध अनिवार्य पदार्थ है जिससे व्यक्ति का स्वास्थ्य सीधा जुड़ा हुआ है। आयूर्वेद कहाता है कि दूध पोषक तत्वों का पूरा संतुलन लिए हुए है। मांसपेशियो को मजबूती, दांतों की मजबूती, अच्छी नींद के लिए सोने से पहले एक गिलास दूध जरूर पीने की सलाह प्रायः सभी देते हुए नजर आते है। दूध का उपयोग त्वचा की चमक को बरकरार रखते हुए इसके प्रयोग से मुहांसे भी नहीं होते है। शोधों द्वारा ये साबित कर दिया गया है कि दूध व्यक्ति की स्मरण शक्ति को बढ़ाता है। दूध वजन घटाने में भी सहायक है तथा बालों के विकास के लिए दूध उपयोगी है। एसिडिटी नियंत्रण में भी दूध सहायक है। इस प्रकार आप दूध की शुद्धता सुनिश्चित करें। आप सभी अपने परिवार की आवश्यकता का दूध शुद्ध मिल सकें ऐसा प्रयास करें व अनेक बीमारियों से अपने घर परिवार को सुरक्षित रखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!