April 25, 2024

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 23 फरवरी 2020। आज गांव मोमासर में प्रजापति समाज ने पिंक मोमासर करने में अपनी कार सेवाएं दी। समाज ने पिंक विलेज बनाने का आगाज धूमधाम से करते हुए समाज के युवक, युवतियां, पुरूष, बुजुर्ग, महिलाऐं सभी ने आज गांव में स्वच्छता रैली निकालते हुए मोमासर को पिंक करने में सार्थक योगदान दिया। सभी सार्वजनिक स्थानों को प्रजापति समाज ने सफाई करते हुए पिंक रंग से रंगा। रैली के प्रारम्भ में उपसरपंच जुगराज संचेती ने गांव के सभी समाजों को एकजुट होकर पिंक व स्वच्छ मोमासर बनाने का आव्हान किया। संचेती ने बेटी बचाओ, बेटी पढाओ का संदेश देते हुए प्रजापति समाज का आभार व्यक्त किया। समाज के नागरिकों ने 10-10 लोगों की दस टीमें बनाकर ग्राम के मुख्य मार्गों पर पिंक कलर किया। स्वच्छता प्रहरी मोहर सिंह यादव, समाज के रूपाराम नेमीवाल, युवा कुम्हार महासभा श्रीडूंगरगढ के अध्यक्ष बजरंग लाल सिरस्वा ने रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। कार्यक्रम की व्यवस्थाओं को बनवारी कुमावत, भागीरथ, चेतनराम, पूनमाराम, ओमप्रकाश, हडमाना राम, शंकरलाल, सुरेशकुमार, तोलाराम, प्रदीप कुमार, नानकराम, पांचीलाल और राजूराम ने संभाला। दर्शन कुमावत और ममता ने ओजस्वी गीत से युवाओं में उत्साह भर दिया।
गांव के सभी समाज बारी बारी से अपनी सेवाएं इस स्वच्छता अभियान में दे रहें है। कुछ समय पूर्व गोदारा समाज ने गांव में आक के पौधे का समूल नाश किया व ताल मैदान की सफाई की।

प्रधानमंत्री मोदी के आगमन की आस
श्रीडूंगरगढ टाइम्स। ग्रामीणों का स्वप्न है कि प्रदेश का पहला पिंक विलेज बनने व स्वच्छ विलेज के रूप में पहचान कायम होने पर स्वच्छ भारत अभियान के पूरोधा स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उनके गांव आएं व गांव को सम्मान देवें। स्वच्छता प्रहरी मोहर सिंह ने ग्रामीणों की ये मंशा सांसद अर्जुनराम मेघवाल व स्वयं नरेन्द्र मोदी तक पहुंचा दी है। पी.एम. ने इस लक्ष्य को प्राप्त करने पर गांव में आने का वादा भी किया है। अब ग्रामीण शबरी सा धैर्य रख कर अपने स्वप्न को साकार करने में जुटें है।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव के स्वच्छता अभियान के संयोजक मोहर सिंह यादव ने सांसद व प्रधानमंत्री को गांव के स्वप्न के बारे में जानकारी दी।

गांव में विलायती बबूल और आक का समूल नाश
श्रीडूंगरगढ टाइम्स। मोमासर गांव में जीवन के लिए जानलेवा माने जाने वाले विलायती बबूल के लिए पूरे जिले में ऐसी जागरूकता नहीं देखने को मिलेगी जो मोमासर के ग्रामीणों में आयी है। इसे मानव जीवन के साथ साथ वन्य जीव जंतुओं व पक्षियों के लिए भी खतरा माना जाता है। यह लाभदायी पौधों के नाश का कारण बन गया और यह पर्यावरण को भी दुषित करता है। इसके नुकसान के प्रति जागरूक मोमासर के ग्रामीणों ने इसका गांव से समूल नाश कर दिया। गांव के पवन सैनी ने बताया कि ग्रामीणों ने छोटे पौधों को उखाड़ कर नष्ट कर दिया व बड़े पेड़ जेसीबी से निकलवा कर नष्ट कर दिए। आज गांव आक और विलायती बबूल से मुक्त गांव बन गया है।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव के सार्वजनिक स्थानों को पिंक रंग में रंगते युवा।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। देश का पहला पिंक गांव बनाने में जुटे प्रजापति समाज के युवक, युवतियां।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। देश का पहला पिंक गांव बनाने में जुटे प्रजापति समाज के युवक, युवतियां।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। मोमासर में अब पिंक नजर आने लगी है गलियां।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!