April 25, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 30 मार्च 2020। श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र में अभी तक करीब 4000 प्रवासी नागरिक पहुंच चुके है, इन प्रवासी नागरिकों में अगर एक भी कोरोना वायरस का संवाहक बनता है तो आने वाले दस दिन क्षेत्र के लिए काफी भयानक साबित हो सकते है। इस भयावता को कम करने के लिए प्रशासन का प्रयास है कि लोग अधिकाधिक घरों में ही रहें एवं केवल अत्यंत आवश्यक स्थिति में ही अकेले घर से बाहर निकलें, भीड़ में शामिल ना हो। प्रशासन के इस प्रयास को श्रीडूंगरगढ़ के व्यापारी सार्थक करने के लिए लगातार प्रयोग कर रहे है कि बाजारों में राशन सामग्री खरीदने के नाम पर भीड़ ना हो। व्यापारियों ने दुकानों पर सामान सीधे नहीं बेचने, व्हाट्सएप पर मैसेज से ही आर्डर लेने एवं बिना सम्पर्क में आए सामान डिलेवरी करवाने का सिस्टम सोमवार से शुरू कर दिया है लेकिन व्यापारियों के समक्ष आ रही दिक्कतों के संबध में प्रशासन द्वारा सुनवाई नहीं होने के कारण व्यापारी आम जन की सेवार्थ अपना कार्य नहीं कर पा रहे है। ऐसे में व्यापारी एवं व्यापार मंडल प्रशासन से गुहार लगा रहें है कि प्रशासन सुनो, समस्या समाधान करो। आप भी जानें क्षेत्र के व्यापारियों के सामने आ रही है ये प्रमुख समस्याएं।

1 व्यापारियों एवं दुकानों के मुनिमों को घर से दुकान तक आने जाने के दौरान पुलिस द्वारा पिटाई नहीं करना सुनिश्चित किया जाए।
2 होम डिलेवरी करवाने के लिए टैक्सी, बाईक, स्कुटी को प्रमाणित किया जाए।
3 असामाजिक तत्वों द्वारा लगातार व्यापारियों के साथ किए जा रहे दुर्व्यवहार को रोका जाए, सुरक्षा उपलब्ध करवाई जाए।
4 होलसेल में सामान देने वाले बड़े व्यापारियों द्वारा तेल, आटा, दाल आदि सामान रिटेल व्यापारियों को मंहगी दरों पर दिया जा रहा है तो रिटेल व्यापारी तो नई दरों पर सामान दे सकेगें। ऐसे में कालाबाजारी करने का भ्रम फैलाने वालों पर कार्यवाही करने एवं होलसेल के बड़े व्यापारियों से रेट कन्फर्म कर सामान की रेट सूची चस्पा करवाई जाए।

व्यापारियों की इन समस्याओं के समाधान के बिना आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खोलना एवं होम डिलेवरी सिस्टम लागू करना संभव नहीं होगा। इस संबध में प्रशासन के साथ बैठक करना तय किया गया है। प्रशासन से अपील है कि व्यापारियों की समस्याओं का निराकरण किया जाए ताकि इस संकटकाल में व्यापारी जनसेवा कर सके – श्यामसुंदर पारीक, महामंत्री, व्यापार मंडल, श्रीडूंगरगढ़।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!