May 29, 2024

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 19 मई 2020। राजेरा ग्राम पंचायत के गांव खारड़ा में करवाए गये तालाब निर्माण कार्य से गांव के युवाओं में रोष है और वे इसके खिलाफ कार्यवाही की मांग कर रहें है। प्राप्त जानकारी के अनुसार खारड़ा गांव में मनरेगा के तहत तालाब का निर्माण किया गया जो पहली बारिश के साथ ही बह गया। खारड़ा युवा विकास संस्थान के दामोदर सारस्वत ने बताया कि गुंसाईजी मंदिर के पास निर्मित तालाब छह अंगुल बारियर भी नहीं झेल सका और ढह गया। संस्थान के पीरा चौधरी ने बताया कि युवाओं ने जिलाकलेक्टर तक इसकी शिकायत दर्ज करवा दी है। चौधरी ने कहा कि गांव के युवा इस घटिया निर्माण से आक्रोशित है और लॉकडाउन के हटते ही धरना व प्रर्दशन करेंगे। गांव के युवा 10 लाख रूपए की राशि से बने इस तालाब कार्य की जांच करने की मांग जिले के नेताओं से भी कर रहे है। युवा छोटुराम ने कहा कि कम से कम काम ऐसा हो जो जनहित में काम आ सके सरकारी धन के दुरूपयोग पर निर्माण में लिप्त लोगों पर सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए। युवाओं ने गांव के प्रशासनिक प्रतिनिधि पर धमकाने के आरोप भी लगाए है। उनका कहना है कि हम गांव के लिए आवाज उठाऐंगे और दोषियों के खिलाफ कार्यवाही होने तक संघर्ष भी करेंगे। गांव के रवि सारस्वा ने बताया कि हमे राजनीति से कोई लेना देना नहीं है परन्तु गांव में काम अच्छा हो इसलिए हम सब एक जुट होकर संघर्ष कर रहें है।
अगले चुनाव में राजेरा से अलग हो जाएगा खारड़ा
श्रीडूंगरगढ टाइम्स। खारड़ा गांव अभी ग्राम पंचायत राजेरा में शामिल है परन्तु नए परिसीमन में ये अलग पंचायत बन जाएगा। कोरोना के लॉकडाउन के कारण चुनावी प्रक्रिया पर रोक लगने से ये अभी राजेरा में शामिल है। ग्राम पंचायत राजेरा में महिला सरपंच है परन्तु कार्य सरपंच प्रतिनिधि द्वारा किया जा रहा है। हालांकि उपसरपंच इसी गांव से है पर वे इस मामले में सक्रिय नहीं है। ग्राम विकास अधिकारी की पहले भी इसी गांव के युवाओं ने नरेगा में जॉब कार्ड के एक मामले में शिकायत की थी।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव के युवा मनोज सारस्वा ने बताया कि पहली बारिश में ढह गई तालाब की दीवार।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!