June 25, 2024

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 14 नवबंर 2019। क्षेत्र में कल शाम से छा रहा कोहरा वास्तव में कोहरा नहीं बल्कि धुंआ था। बीकानेर के प्राप्त जानकारी के अनुसार यह हरियाणा व पंजाब में जलाई जा रही पराली का धुआं है जो हमारे क्षेत्र तक आ पहुंचा है। क्षेत्रवासी सुबह से ही इसे ठंड का आगाज समझ रहे थे पर सर्दी की आहट नहीं वरन् स्वास्थ्य का दुश्मन खतरनाक धुआं था। जो कि मनुष्य, पशुओं व पक्षियों की आंखों के लिए काफी नुकसानदायक था। यह धुआं बीती रात से सुबह ग्यारह बजे तक आसमान में छाया हुआ था, जिसकी वजह से आंखों में जलन व स्वांस लेने में दिक्कतें पैदा कर रहा था। दोपहर को हुई बारिश के साथ यह धुआं धुल गया और आसमान साफ हो गया तरह छा ग। बुधवार शाम को छाई धुंध को लोगों ने कोहरा मान रखा था, लेकिन कुछ देर बाद इस धुएं से लोगों की आंखों में जलन व श्वास लेने की समस्या होने लगी। तब पता चला कि यह कोहरा नहीं बल्कि पराली का धुआं है जो कि हरियाणा व पंजाब के किसानों द्वारा हाल ही में जलाई गई है। यह धुआं हर बार दिल्ली की ओर चला जाता है लेकिन इस बार हवाओं के रूख के साथ पराली का धुआं इस क्षेत्र की ओर आ गया। इससे स्वांस रोगियों, बुजुर्गों तथा बच्चों को भारी परेशानी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!