July 24, 2024

कस्बे के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला। भाजपा, कांग्रेस सहित सभी पक्ष दे रहे है सफाई, सभी पक्ष एक दूसरे पर मंढ़ रहे आरोप। वाटसअप ग्रुपों में, फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया साईटस पर चल रही है सभी पक्षों में तकरार। कस्बेवासी कर रहे है विश्लेषण, समय आने पर जनता की अदालत में ही होगा निर्णय। प्रबुद्धजनों ने दी दोनों पार्टियों सहित सभी पक्षों को शांत रहने व जनता में अपना विश्वास बनाने की सलाह।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 5 जून, 2019। श्रीडूंगरगढ़ नगरपालिका में जोनल प्लान सर्वे के नाम पर हुए करोडों रुपए के भ्रष्टाचार की कलई खोलने के नाम पर स्थानीय नेताओं में चल रहा सुयश का संघर्ष एक बार पुन: उस समय तेज हो गया जब नगरपालिका नेता प्रतिपक्ष पूनम देवी सारस्वत एवं कांग्रेस नेता राधेश्याम सारस्वत ने राज्य के स्वायत्त शासन विभाग मंत्री को पत्र भेजा। सारस्वत के पत्र भेजने के साथ ही नगरपालिका में सक्रिय सभी पक्षों व उनके सर्मथकों द्वारा सोशल मिडिया पर पुन: एक दुसरे को भ्रष्टाचारी कहने की जंग छिड़ गई है। कांग्रेस व भाजपा सर्मथक, कार्यकर्ता अब एक दुसरे को भ्रष्टाचारी होने का तमगा पहना रहे है। विदित रहे कि जोनल प्लान सर्वे में राज्य सरकार द्वारा पूरे राज्य में व्यापक स्तर पर भ्रष्टाचार होने की बात मानी है एवं राज्य की 22 नगरपालिकाओं में विशेष जांच कमेटी का गठन कर भ्रष्टाचार के दोषियों पर कार्यवाही एवं गबन किए रुपयों की रिकवरी के आदेश निकाले है। इस क्रम में कार्यवाही का सबसे पहला नम्बर श्रीडूंगरगढ़ नगरपालिका का आया जहां सरकार ने अधिषाशी अधिकारी, जेईएन, लेखाकार, कैशियर, लिपिक आदि को निलंबित कर दिया है। सरकार द्वारा निलंबन के बाद स्थानीय स्तर पर नेताओं में श्रेय लेने की होड़ मच गई है। सभी पक्ष एक दुसरे को भ्रष्ट कहते हुए इस भ्रष्टाचार की पोल खोलने का क्रेडिट खुद लेने को आतुर है। इस कार्यवाही में जहां नगरपालिका अध्यक्ष गुट भ्रष्टाचार की रिकार्डिंग वायरल करने के माध्यम से भ्रष्टाचार खोलने की बात कह रहे है वहीं उनके विरोधी पूर्व विधायक के पौत्र पार्षद आशीष जाड़ीवाल इस संबध में अप्रेल माह में जयपुर डीएलबी पहुंच कर जांच की मांग करने से भ्रष्टाचार पर कार्यवाही होने की बात कह रहे है। इसी क्रम में मंगलवार को नगरपालिका नेता प्रतिपक्ष पूनम सारस्वत ने अपने द्वारा फरवरी में ही भ्रष्टाचार की शिकायत करने की बात कह कर सबसे पहले अपने द्वारा शिकायत करने का दावा किया गया है। इसी प्रकार भाजपा के विधानसभा चुनाव प्रत्याशी ताराचंद सारस्वत व विधायक गिरधारीलाल महिया ने इस प्रकरण में अपने ज्ञापन दिए थे एवं उनके सर्मथक भी इस कार्यवाही का श्रेय उनके ज्ञापनों को दे रहे है। इन सब के बीच कुछ ऐसे लोग भी श्रेय लेने की होड़ में शामिल हो गए है जिनका इस मामले से कोई लेना देना नहीं था व उन्हें प्रकरण की पूरी जानकारी तक नहीं थी। लेकिन पालिका कार्मिकों पर कार्यवाही के बाद हर पक्ष अपने अपने सर्मथकों के साथ सोशल मिडिया पर श्रेय लेने के संघर्ष में जुटा हुआ है। और इसी संघर्ष में कई फेसबुक पोस्टों पर, वाटसएप ग्रुपों में तो अच्छी खासी बहस व तकरार भी नजर आ रही है।  खैर जो भी क्षेत्रवासी इस पुरे प्रकरण को शांतचित्त से देख रहे है एवं समय आने पर उन्ही के द्वारा तय होगा कि जनता की नजर में भ्रष्टाचार का दोषी कौन है।

सोशल मीडिया पर पत्र हो रहा ट्रोल।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। नेता प्रतिपक्ष का राज्य सरकार को भेजा गया पत्र सोशल मीडिया में जम कर ट्रोल भी हो रहा है एवं बडी संख्या में ऐसे लोग भी सोशल मीडिया पर सक्रिय हो गए है जो इस पत्र को केवल सोशल मीडिया पर ही जाहीर किए जाने की बात कह रहे है। ये सभी लोग इस पत्र का अभी राज्य सरकार के पास नहीं पहुंचने एवं केवल स्थानीय स्तर पर सोशल मीडिया लोकप्रियता का स्टंट करने का आरोप भी सोशल मीडिया पर ट्रोल करते हुए लगा रहे है।

पहले दी सफाई, अब लगा रहे है आरोप।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। नगरपालिका में हुए भ्रष्टाचार के प्रकरण में उबाल तब आ गया जब नगरपालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि नारायण मोट एवं नगरपालिका में तत्कालीन लेखाकार पुनमचंद नाई के मध्य हुई बातचीत का ओडियो वायरल हो गया। इस वायरल आडियो में पालिकाध्यक्ष विरोधी भाजपा गुट की अगुवाई कर रहे पार्षद आशीष जाड़ीवाल, नगरपालिका नेता प्रतिपक्ष प्रतिनिधि राधेश्याम सारस्वत, अधिकारी, पार्षदों आदि सभी के मध्य इस पैसे के बंटवारे की बात हुई थी। आडियो वायरल होने के बाद जहां सभी पक्ष इस प्रकरण में स्वंय के पैसे नहीं लेने की बात कहते हुए खुद को इस प्रकरण का शिकायतकर्ता घोषित कर अपनी अपनी सफाई देते दिखे थे। वहीं अब कार्यवाही होने के बाद सभी अपने दामन पाक साफ बताते हुए एक दूसरे पर भ्रष्टाचार में शामिल होने के आरोप जड़ रहे है।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। श्रीडूंगरगढ़ नगरपालिका भवन कस्बे के विकास केन्द्र के बजाए बना विवाद का केन्द्र।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स की खबरें अपने मोबाईल में सीधे प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर हमारे वाटसएप ग्रुप से जुडें- https://chat.whatsapp.com/ILHDb9HO5l5Ben5G6jsdae
और हमारें फेसबुक पेज को लाइक करें- https://www.facebook.com/sridungargarhtimesnews/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!