सर्मथन मूल्य पर खरीद बंद करने से बढ रहा है किसानों में रोष, नेताओं ने भेजे पत्र, दी चेतावनी।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 4 जुलाई 2020। राजफैड़ द्वारा गत शुक्रवार को अचानक से बिना किसी पूर्व घोषणा के सर्मथन मूल्य पर चने की खरीद बंद करने से क्षेत्र के किसानों में सरकार के प्रति रोष बढ रहा है। इस संबध में किसान नेताओं ने भी सरकार के विरोध में मोर्चा खोल दिया है। इस संबध में क्षेत्रिय विधायक गिरधारीलाल महिया ने मुख्यमंत्री को पत्र भेज कर राजफैड की नाकामी का परिणाम किसानों को भुगताने का विरोध किया है एवं पुन: खरीद शुरू कर आनलाईन आवेदन किए गए समस्त किसानो का माल तुलवाने की मांग की है। इसी प्रकार आरएलपी नेता डा विवेक माचरा ने भी कृषि मंत्री उदयलाल आंजना से फोन पर वार्ता कर किसानों के साथ किए जा रहे अन्याय का विरोध किया है। माचरा ने कृषि मंत्री को चेतावनी देते हुए अधिकारियों की लापरवाही के कारण किसानों की उपज तुलने से वंचित रहने का आरोप लगाया है। किसानों के सर्मथन में सताधारी दल कांग्रेस के नेता भी आवाज उठा रहे है। यूथ कांग्रेस के देहात जिलाध्यक्ष हरिराम बाना ने भी इस संबध में किसानों की पीडा को कांग्रेस के आला नेताओं तक पहुंचाई है। बाना ने बताया कि सरकार द्वारा किसानों को राहत देने के प्रयासों के बाद भी राजफैड के अधिकारियों की लालफिताशाही का खामीयाजा सरकार की छवी पर पड रहा है। इस संबध में राज्य सरकार को पत्र देकर हस्तक्षेप करते हुए ऐसे लापरवाह अधिकारियों पर कार्यवाही करने एवं आनलाईन आवेदन किए गए समस्त किसानों की तुलवाई करवाने की मांग की गई है।