श्रीडूंगरगढ़ की बेटी को झेलनी पड़ी दहेज प्रताड़ना, मारपीट कर दो बेटियों सहित घर से निकाला।

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 27 मई 2020। कस्बे की एक बेटी ने दहेज के लिए ससुराल वालों की प्रताड़ना से परेशान होकर विवाह के 6 वर्ष बाद पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज करवाया है। आड़सर बास निवासी पूजा ने राजलदेसर निवासी विक्रम नाई, विक्रम के पिता विजयराज नाई व ममता पुत्री लालचंद नाई पर आरोप लगाते हुए ईस्तगासे में बताया कि उसका 6 वर्ष पूर्व विक्रम के साथ हुआ और तभी से मोटरसाइकिल व एक लाख रुपए की मांग करते हुए आरोपी ताने देते हुए मारपीट करने लगे। जब विवाह के 3 साल बाद पुत्री का जन्म हुआ तो छुछक में मोटरसाइकिल की मांग की व एक लाख रुपये लेकर आने को कहा। पूजा ने बताया कि पिता के देहांत के बाद व सम्पन्न परिवार नहीं होने के कारण घर वाले और धन नहीं दे सकते। पूजा ने कहा कि विवाह में भी अपने सामर्थ्य से अधिक खर्च कर दिया था। ये बात कहने पर आरोपियों ने रोजाना ही मारपीट करने लगे व कमरे में बंद रख कर दो-दो दिन खाना नहीं देते थे। एक वर्ष बाद एक ओर पुत्री रत्न प्राप्ति होने व पुत्र नहीं होने के कारण ससुराल वालों ने उसे अपशगुन बताते हुए शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना और अधिक देने लगे। पूजा ने बताया कि विक्रम शराब पीकर गालियां देता व मारपीट करता। करीबन 11 महीने पहले दोनों बेटियों सहित माँ को अपशगुनी बताते हुए मारपीट कर घर से निकाल दिया। पूजा के मामा, चाचा, दादा ,भाई सभी ने समझाईश करने के प्रयास किए परन्तु विक्रम के परिवार ने कहा घर में आने पर जान से मार की धमकियां दी। पूजा ने कहा कि परिवार की ईज्जत के लिए अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं करवाया परन्तु अब मेरा स्त्रीधन लौटाया जाए व आरोपियों को सजा दी जाए। पूजा ने ईस्तगासे से मुकदमा दर्ज करवाया है। पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए जांच उपनिरीक्षक लाल बहादुर को सौपी है।