श्रीडूंगरगढ़ कृषि मंडी 15 मई तक बंद की घोषणा।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 10 मई 2020। कृषक कल्याण शुल्क के विरोध में श्रीडूंगरगढ़ कृषि मंडी को 15 मई तक पूर्णतया बन्द रखने की घोषणा व्यापार संघ ने की है। व्यापारियों ने कहा कि वैश्विक महामारी की आपदा में अचानक कृषि उपज मंडी अधिनियम 1961 में संशोधन कर लाॅकडाउन क स्थिति में ये कृषि उपज पर 2% कृषक कल्याण शुल्क लगाने की घोषणा अनैतिक व लोककल्याण के खिलाफ किया गया कार्य है। व्यापारियों ने  5 दिनों तक मंडी बन्द रखने के बाद आज बंद को 15 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। संघ के अध्यक्ष श्याम सुंदर पारीक ने कहा कि लॉकडाउन में किसान और व्यापारी पहले ही खराब आर्थिक हालातों से जूझ रहे है  ऐसी स्थिति में राज्य सरकार द्वारा कृषि उपज मंडी व्यापारीयों व किसानों को राहत देने की जरूरत है न की अनुचित शुल्क लगाकर परेशान करने किया जाना चाहिए।  पिछले पांच दिनों से राज्य का व्यापारी सरकार से निरन्तर अनैतिक शुल्क वापिस लेने की मांग कर रहा है। लेकिन सरकार अपनी हठधर्मिता पर अड़ी हुई है इसी कारण व्यापारीयों को मजबूरन 15 मई तक श्रीडूंगरगढ़ कृषि उपज मंडी का कारोबार पूर्णतया बन्द रखा जाएगा।