March 1, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 22 नवबंर 2020। श्रीडूंगरगढ़ उपखंड के पंचायत चुनाव में सोमवार सुबह मतदान होगा और आज की रात तीनों बड़ी पार्टियों के लिए कयामत की रात है। नाराजों के घर जाकर संपर्क किया जा रहा है वहीं दूर दूर तक उनसे संपर्क साधा जा रहा है, रिश्तेदारों से भी वोट देने को कहलवाया जा रहा है। तीनों पार्टियों के प्रत्याशियों सहित नेता भी जी-जान से अपना प्रधान बनाने को जुटें हुए है। भाजपा के जिलाध्यक्ष ताराचंद सारस्वत ने सभी ईमानदार प्रत्याशियों उतारने व पंचायत समिति में सुशासन के नाम पर वोट मांगे। वहीं विधायक गिरधारीलाल महिया ने भ्रष्टाचार मुक्त श्रीडूंगरगढ का नारा बूलंद किया। कांग्रेस के पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा ने राज्य सरकार की कड़ी से कड़ी जोड़ कर विकास के नाम पर वोट मांगे। नेताओं ने रिझाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी वहीं ग्रामीणों ने सभी नेताओं को राजी तो किया परन्तु अपना मन अभी तक किसी के सामने नहीं खोला है। सारस्वत कोरोना से जंग जीत कर आए तो गांवो में लगातार कोरोना जागरूकता की बात भी की और मास्क भी लोगों को खुब पहनाएं। ग्रामीणों ने सारस्वत का साफा और मालाऐं पहनाने आगे आएं तो उन्होंने उन्हीं को वो मालाऐं पहना कर सम्मान किया। ग्रामीणों ने उनकी सादगी को सराहा। वहीं ग्रामीणों ने विधायक महिया का स्वागत भी पलक पांवड़े बिछा कर किया और महिया को अपने जैसा दिखने वाला बताते हुए उन्हें समर्थन की बात कही। दूसरी और कांग्रेस विधायक या विधायक पुत्र केसराराम गोदारा के वोट मांगने पर ग्रामीणों ने परम्परागत रूप से कांग्रेस को वोट देने की बात भी कही। रालोपा और बसपा ने भी एड़ी चोटी का जोर जीत के लिए लगा दिया है। चारों तरफ चर्चाओं में भी जबरदस्त त्रिकोणीय संघर्ष की चर्चा है और राजनीतिक विश्लेषक भी प्रधान किसका बनेगा की तस्वीर साफ साफ नहीं बता पा रहें है। श्रीडूंगरगढ़ पंचायत समिति प्रधान का चुनाव इस बार जबरदस्त रोचक बन गया है और पूरे जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!