May 29, 2024

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 24 अप्रेल 2020। बीकानेर व नागौर सहित राज्यों की सीमाएं सील है फिर भी छुपते छुपाते ग्रामीणों का गांवो में पहुंचना बदस्तुर जारी है। आज सुबह सोनियासर मिठिया में भी तीन ट्रेक्टर ड्राइवर है और पश्चिम बंगाल से गांव पहुंचे है। 20  अप्रेल को भी 4 जने यहां आए और अभी गांव में आगामी पांच सात दिनो में करीब 10 ग्रामीणों के और पहुंचने की सूचना है। हालांकि ये घर नहीं गए और  गांव के राजकीय स्कूल में 28 दिन के लिए क्वारेंटाइन किया गया है। सभी की स्क्रिनिंग की गयी है और इन्हें स्वास्थ्य संबंधी कोई दिक्कत नहीं है। ये परदेशी घर लौटने पर घरवाले इनका स्वागत तो नहीं कर पा रहे पर उनके मनों में संतोष जरूर भर गया है कि उनके बच्चें गांव की मिट्टी तक वापस लौट आए है। और पहुंचने वाले भी खुश और संतुष्ट नजर आ रहे है उनका कहना हैकि ऐसे माहौल में घर तक पहुंचना उनके लिए किसी विजय यात्रा से कम नहीं है।
क्वारेंटाइन में दे रहे है श्रमदान
श्रीडूंगरगढ टाइम्स। इन युवकों ने गांव की सुरक्षा के लिए घर नहीं जा कर स्वयं ही सीधे क्वारेंटाइन सेंटर पर पहुंचे व यहां भी विद्यालय प्रांगण की साफ सफाई करने में जुट गये है। इन्होनें स्कूल में श्रमदान की इच्छा सरपंच के सामने जाहिर की है। ज्ञात रहे क्वारेंटाइन में रह रहे लोगों द्वारा सेंटर पर श्रमदान की खबरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिससे प्ररेणा लेकर इन्होने भी कुछ कार्य करने का विचार किया है। सरपंच नंदकिशोर बिहाणी भी सेंटर संयोजक से बात कर इनके लिए विद्यालय में पेड़ लगवाने सहित कोई और कार्य भी निर्धारित करेंगे।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव सोनियासर मिठिया के क्वारेंटाइन सेंटर में पहुंचे नए मेहमान।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। ये युवक सेंटर की साफ सफाई करने में जुट गए है। इन्होंने विद्यालय में पेड़ लगाने की पेशकश भी सरपंच से की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!