April 22, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 6 जून 2020। मौसम ने करवट ली है। भीषण गर्मी के बाद अचानक बारिश ने मौसम के मिजाज को बदल दिया है। हल्की ठंड का अहसास हो रहा है। डॉक्टरों ने इस बदलते मौसम में सावधानी बरतने की सलाह दी है।

यह मौसम सेहत के लिहाज से नुकसानदेह है। मौसम में उतार-चढ़ाव से मौसमी बीमारियों की आशंका बढ़ गई है। ऐसे में सर्दी-जुकाम, बुखार और गले में खराश जैसी परेशानी बढ़ सकती है। यह सभी लक्षण कोरोना से मेल खाते हैं। जो परेशानी व उलझन का सबब बन सबता है।

बच्चों और बुजुर्गों को खास सावधानी बरतने की जरूरत है। डायबिटीज, दिल और ब्लड प्रेशर समेत दूसरी बीमारी से जूझ रहे मरीज संजीदा रहे हैं। सांस के मरीजों की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मौसमी बीमारियों से पीड़ितों के अस्पताल पहुंचने से कोरोना संक्रमण के प्रसार की आशंका भी बढ़ गई है।

बारिश की वजह से मच्छरों की तादाद में इजाफा होने का खतरा बढ़ गया है। मच्छरों पर वार अभियान जल्द शुरू कराया जाएगा। इसके तहत एंटीलार्वा का छिड़काव होगा। डायरिया और डेंगू-मलेरिया से जूझ रहे मरीजों की जांच व इलाज की व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं। सभी सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को अलर्ट कर दिया गया है।

सामान्य बुखार और कोरोना में इस तरह समझे अंतर

कोरोना वायरस के लक्षण
बुखार
गले में खरास
सूखी खांसी
मांसपेशियों में दर्द
खाने की वस्तु का स्वाद कम लगना
सांस लेने में तकलीफ

फ्लू के लक्षण
बुखार
बहता जुकाम
सिर व बदन दर्द
आंखों का लाल होना

ये बरतें सावधानी
-ठंडी वस्तुओं को खाने से परहेज करें
-ठंडा पानी व कोल्ड ड्रिक न पिएं
-बासी भोजन करने से बचे
-फुल आस्तीन के कपड़े पहने
-एसी व कूलर चलाने से बचें
-समय-समय पर कूलर का पानी बदलें
-चाय और गर्म दूध फायदेमंद
-गले में खराश होने पर गर्म पानी से भाप लें
-गुनगुना पानी पीना फायदेमंद
-बारिश में भीगने से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!