July 19, 2024

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 16 दिसम्बर 2019। कहते है बादस्या मरया वजीर रोता फिर..। यही हाल हमारे शहर का हो गया है। बादस्या जैसे नेता चले गये और अब कोई शहर की व्यवस्था में सुधार की ना तो चाहत रखते है ना ही प्रयास करते है। शहर की सूरत बिगाड़ कर रख दी है यहाँ लालफीताशाही ने आखिर कब तक सोतेला व्यवहार प्रशासन का ये शहर सहेगा। बारिश ने शहर के अधिकांश सड़कों की सूरत बिगाड़ दी है। जगह जगह टूटी-फूटी सड़कें कीचड़ में तब्दील हो गई हैं। इन पर लोगों को चलना मुश्किल हो गया है। उल्लेखनीय है कि शहर के अधिकांश सड़के जर्जर अवस्था में हैं। नालियों की गंदगी सड़कों पर पसर जाती है इससे सड़क पर कीचड़ ही नजर आता है। शहरवासियों ने नगरपालिका से सड़कों की मरम्मत कराने व यहां कीचड़ की समस्या का स्थायी समाधान करने की मांग कई बार की है। पर पालिका के कान तक साधारण जनता की आवाज कहाँ पहुंच पाती है। यहां कि जनता का शांत शालीन व्यवहार भी पालिका को सम्भवत खलता है। शायद इसी खास बात का फायदा यहां प्रशासक और नेता उठाते रहे है।

शहर की नाक बस स्टेण्ड पर पसरा कीचड़
श्रीडूंगरगढ टाइम्स। हमारे शहर के बस स्टेण्ड पर लंबे समय से रोजाना पसरा रहने वाला कीचड़ शहर के बीचोंबीच शहर की नाक पर लगा दाग है। बस स्टेण्ड पर भरे पानी से कस्बेवासी आहत रहते हैं। आने जाने वाले राहगीर हैरान परेशान रहते है। यहां स्थित दुकानो के दुकानदार तो रोजाना इस गंदगी से उलझते रहते है। शहर की नाक पर ये सवाल भी बैठा है कि आखिर कब यहां कोई इस समस्या का स्थायी हल करेगा। नगरपालिका का प्रयास नजर नहीं आते और नजर आता है रोजाना सुबह सड़क पर पसरा हुआ कीचड़। शहर के नेता जो पद की लड़ाईयाँ लड़ लेंगे वे शहर की गरिमा पर लगे इस भद्दे दाग वाली समस्या के लिए संघर्ष करते नजर क्यों नहीं आते। जनता की समस्याएं ज्यों की त्यों बनी रहती है और पालिका बोर्ड बदलते रहते है। आखिर इस समस्या के समाधान के लिए कौन प्रयास करेगा और आखिर कब?

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। शहर के बीचोंबीच बस स्टैंड पर भरा कीचड़
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। शहर के बीचोंबीच बस स्टैंड पर भरा कीचड़
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। शहर के बीचोंबीच बस स्टैंड पर भरा कीचड़

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। अपने क्षेत्र की विश्वनीय व प्रामाणिक खबरों से जुड़ने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें व यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!