February 25, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 13 मई 2021। क्षेत्र में काेराेना सहित सभी राेगाें के राेगियाें के लिए सबसे बड़ी दिक्कत ऑक्सीजन की आ रही थी एंव क्षेत्र की सामाजिक संस्थाओं, जनप्रतिनिधियाें, साेशल मीडिया यूजर्स और मीडिया द्वारा इस समस्या के समाधान के लिए पूरजोर आवाज भी उठाई गई थी। ऐसे में करीब 15 दिनाें से अधिक समय तक विकराल हालाताें काे झेल चुके श्रीडूंगरगढ़वासियाें के लिए अब कुछ राहत की खबर आई है। बुधवार काे जिला कलेक्टर के दाैरे के दाैरान भी क्षेत्र के लाेगाें ने यह मांग उठाई थी और कलेक्टर के दाैरे बाद नए निर्देशाें में श्रीडूंगरगढ़ के लाेगाें काे भी ऑक्सीजन दिए जाने का निर्णय हुआ है। अब श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र के घराें में ऑक्सीजन आवश्यकता वाले राेगियाें काे एवं संस्थाओं की एम्बुलैंसाें काे आपात स्थिति में राेगियाें का परिवहन करने के लिए ऑक्सीजन की सप्लाई मिल सकेगी। ब्लॉक सीएमएचओ डाक्टर संताेष आर्य ने बताया कि जिन संस्थाओं या राेगियाें काे घराें में ऑक्सीजन की आवश्यकता है वाे श्रीडूंगरगढ़ चिकित्सालय में आवेदन कर सकेगें। यहां स्थितियाें का आंकलन कर उनके आवेदनाें काे रिकमंड कर ऑनलाईन जिला परिषद सीओ काे भेजा जाएगा। वहां से वैरीफाई हाेने के बाद संबधित संस्था या राेगियाें के परिजन सेरूणा रिफलिंग प्लांट पर अपने खाली सिलेण्डर ले जा कर रिफल करवा सकेगें। हालांकि अभी भी बीकानेर से वैरीफाई हाेने एवं बीकानेर से शेरूणा प्लांट पर मैसेज आने के बाद ही रिफलिंग हाेने की अनिवार्यता के कारण लाेगाें काे कितनी दिक्कतें हाेगी यह ताे ऑक्सीजन लेने वाले राेगियाें के परिजन ही बता पाएंगे। लेकिन अभी तक ताे क्षेत्र के राेगियाें काे ऑक्जसीन के लिए स्पष्ट मनाही थी और लाेगाें काे बीकानेर चिकित्सकाें से रिकमंड करवाना पड़ रहा था। अब ऑक्सीजन मिलने का रास्ता ताे खुला है एवं देखना होगा कि आगामी दिनों में यह कितना सुगम व सफल रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!