April 13, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स, 11 जून, 2019। पंचायत समिति श्रीडूंगरगढ़ में कांग्रेस ने भाजपा को पराजित करते हुए प्रधान पद पर अपना कब्जा जमाया। आज नवनिर्वाचित प्रधान मघाराम मेघवाल मोमासर से प्रधान चुने जाने वाले तीसरे प्रधान बने है। मोमासर से प्रथम प्रधान बने दुलाराम भांमू। जो सन 1972 से 78 तक पद पर रहे। दुलाराम इससे पूर्व प्रधान लूणाराम के कार्यकाल में 1965 में उपप्रधान भी रहे। मोमासर से दूसरे प्रधान का प्रभावशाली कार्यकाल आज भी लोग याद करते है। उनकी कार्यशैली व किसानों के हित के लिए चिंतन को आज भी पंचायतों के लोग उदाहरण देते हुए स्मरण करते है। वकालत की पढ़ाई कर चुके दूसरे प्रधान रहे दानाराम भामू जिनका कार्यकाल 2000 से 2005 तक रहा। इस दौरान कांग्रेस ने गांवो में पैठ जमाई परन्तु सस्ती राजनीति की भेंट इनकी रणनीतियां चढ़ने लगी तो सम्मानजनक रूप में इन्होंने राजनीति का त्याग किया। आज इन्हें पर्यावरण प्रेमी के रूप में जाना जाता है। मोमासर में रामदेव धोरे पर एक लाख पेड़ लगा कर एक उदाहरण बने है।
आज तीसरे प्रधान मोमासर से मघाराम मेघवाल बने है। मघाराम के लिए पूर्व के अपने ही गांव के आदर्श को कायम रखना चुनोतीपूर्ण होगा। गांव के पूर्व प्रधान दानाराम भामू ने सोशल मीडिया पर मघाराम को बधाई देते हुए उनके पारिवारिक पृष्ठभूमि का जिक्र भी किया। टाइम्स को भामू ने बताया कि मोमासर ने कर्मठ कार्यकर्ता कांग्रेस को दिए है। अब बाप दादाओं के कर्म पर खरे उतरने की चुनोती का सामना मघाराम करेंगे और हमारे गांव को पूरा विश्वास है कि वे जनहित में कार्य करेंगे।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। मोमासर से प्रथम प्रधान बने दिवंगत दुलाराम भामू।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। मोमासर से दूसरे प्रभावशाली प्रधान बने दानाराम भामू।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। मोमासर से नवनिर्वाचित तीसरे प्रधान मघाराम मेघवाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!