April 25, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 20 मई 2021। क्रोध में व्यक्ति अपने ही परिवार की जान का दुश्मन बन जाता है और यही देखने काे मिला गांव जालबसर में जहां एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी एवं बेटे काे जिंदा जलाने के लिए पेट्राेल डाल कर झाेंपडी में आग लगा दी। आग में जलने से बाल बाल बचने पर पत्नी थाने पहुंची और अपने पति के खिलाफ श्रीडूंगरगढ़ थाने में मामला दर्ज करवाया है। श्रीडूंगरगढ़ थानाधिकारी वेदपाल शिवराण ने बताया कि गांव जालबसर में गीता देवी अपने बेटे बजरंग के साथ अपने कृषि कुंए पर ढाणी में रहती है। गत 13 मई काे उसके पति काशीराम ने जाे कि बदमाश प्रवृति का है उसने उनकी झाेंपडी में आग लगा दी। वह अपने बेटे के साथ आग से बचने के लिए झाेंपडे से बाहर निकली ताे वहां काशीराम हाथ में लाठी एवं दाे लीटर की बाेतल में पेट्राेल लिए बाहर खड़ा था। आराेपी ने उन्हे जिंदा जलाने का प्रयास किया एवं पीछे भागा। दाेनाे ने बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाई। इतने में आग देख कर आस पास के दूसरे किसान आ गए ताे आराेपी वहां से भाग गया। आराेपी द्वारा आग लगाने से झाेंपडे में पड़े 1.5 लाख रुपए नकद, 300 पाईप, कपड़े, घरेलू सामान, गेंहू, सरसाें, इसबगोल की निकाली हुई उपज आदि पूर्णतया जल कर खाख हाे गए। पीड़िता ने इस संबध में 14 मई काे भी थाने पहुंच कर अपनी परिवाद दी थी और पुलिस ने माैका मुआयना भी किया था। लेकिन अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं हुआ ताे वह आज पुनः थाने पहुंची एवं अपनी परिवाद थानाधिकारी काे देकर अपने पति के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!