February 27, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 8 सितंबर 2020।श्रीडूंगरगढ़ सहित पूरे शेखावटी अंचल को जागरूकता के साथ लीलण एक्सप्रेस को नियमित करवाने का प्रयास करने होगे। इस सवारी गाड़ी का रूट बीकानेर से वाया रतनगढ़, चूरू,फतेहपुर,रींगस, चौमू, और जयपुर करने से शेखावटी के सैंकड़ों छात्रों को लाभ मिला है परंतु राज्य में इस ट्रेन पर राजनीति गरमाने लगी है। ट्रेन के श्रीडूंगरगढ़ में ठहराव को लेकर रेल सेवा संघर्ष समिति के अध्यक्ष तोलाराम मारू व मंत्री विनोदगिरी गुसाईं अधिकारियों को, मंत्रियों को ज्ञापन दे रहें है वहीं इस ट्रेन का पुराना रूट नोखा, मेड़ता, जयपुर करने की मांग उठ रही है। राजसमंद सांसद दिया कुमारी ने पुराने रूट की मांग करते हुए नाराजगी जताई तो रेल राज्य मंत्री सुरेश अगड़ी ने रेलवे अधिकारियों को रूट बदलने का विरोध भी जता दिया। रेलवे को पुराने रूट की बजाय नए रूट पर यात्री भार अधिक मिल रहा है। इस रूट पर पहले से कोई गाड़ी नहीं होने से तथा शेखावटी के सैकड़ों विद्यार्थी व व्यापारियों के जयपुर रहने से उन्हें पहली गाड़ी व गाड़ी का लाभ मिल सकेगा। हालांकि रेलवे ने अभी इसे परीक्षाओं के लिए 15 तक ट्रायल बेस पर चलाया है परंतु इसे स्थाई करने का विचार होने लगा था कि नोखा से लेकर दूर दूर के तक नेता इस मामले में आ गए है। पुराने रूट पर गाड़ियों की आवाजाही भी अधिक है और नया रूट पुराने से छोटा भी है इससे गाड़ी समय से बीफ़ॉर चल रही है। तोलाराम मारू ने स्पेशल ट्रेन के ठहराव के प्रयास शुरू किए है वहीं गाड़ी को इस रूट पर नियमित करवाने और श्रीडूंगरगढ़ में ठहराव देने की जंग जीतना अभी दूर का सपना है। क्षेत्र की आम जनता को गाड़ी की सुविधा मिल सके इस सपने को साकार करने हेतु सभी सामाजिक कार्यकर्ता, संगठनों, नेताओं द्वारा सार्वजनिक हित के लिए एक मंच पर जुटना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!