जाने भस्त्रिका प्राणायाम की सही विधि राजू हीरावत के साथ।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 26 मई 2021।  1. आप सुखासन में बैठे।
2.कमर और गर्दन बिना तनाव के सीधी रखें।
3.हथेलियां आसमान की तरफ घुटने पर रख खुली रखें।
4. आंखें कोमलता के साथ बंद करें।
5. अब तीन बार गहरी लंबी सांस ले और छोड़े।
6. अब आगे तेज़ी से श्वास भीतर लेना है और तेज़ी से श्वास को बाहर छोड़ना है।
7. श्वास लेते वक्त सर, गर्दन और कमर का कोण 90 डिग्री ही रखें, उसे झुलाएँ नहीं।
8. 10मिनट इसका अभ्यास करना है।

हेल्थ बेनेफिट्स
1. तेज़ी से श्वास लेने से ज्यादा मात्रा में ऑक्सिजन शरीर की प्रत्येक कोशिका तक पहुंचती है। और तेज़ी से श्वास छोड़ने से अधिक मात्रा में कार्बन डाई ऑक्साइड बाहर निकलती है।
2. शरीर ऊर्जावान बनाता है।
3. अनावश्यक फैट बर्न होती है।
4. फेफड़ों की कैपेसिटी बढ़ती है।
5. इम्युनिटी पावर बूस्ट होती है।
6. स्टेमिना बढ़ता है।
7. एकाग्रता बढ़ती है।
8. मेमोरी बढ़ती है।

सावधानियां
1. निरोगी व्यक्ति इसे तेज़ी से कर सकते है, रोगी, सर्जरी किया हुआ व्यक्ति, हार्ट पेशेंट सामान्य रूप से करें।
2. सुबह खाली पेट ही अभ्यास किया जाना चाहिए।
3. खुली हवादार जगह इस अभ्यास को किया जाना चाहिए।
4. पास में एक स्वच्छ सूती वस्त्र जरूर रखें।

आप सभी पाठकों ने इम्युनिटी बूस्ट करने वाले, शरीर को स्वस्थ और मन को प्रसन्न करने वाले तीन प्राणायाम के बारे में जाना। अब कल से आपके लिए लाएंगे उन आसनों की जानकारी जो आपकी इम्युनिटी को बूस्ट करने के साथ आपको स्वस्थ और प्रसन्न रखेंगे।
( इस बारे में कोई भी जानकारी ओर लेनी हो तो आप योग एंड मेडिटेशन स्पेशलिस्ट राजू हीरावत से 9414587266 व्हाट्सएप पर संपर्क करें)