February 22, 2024

तापमान में बढ़ोतरी के साथ ही तेज गर्मी पड़नी शुरू हो गई है. गर्मी के मौसम (Summer Season) में हीट स्ट्रोक यानी लू लगना, डिहाइड्रेशन (शरीर में पानी की कमी होना), जॉन्डिस, सन बर्न, एसिडिटी और बदहजमी, फूड पॉयजनिंग, टायफाइड जैसी बीमारियां सबसे कॉमन हैं. साथ ही गर्मियां आते ही आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक, बर्फ वाला ठंडा पानी, गोला- ये सारी चीजें खाने का ज्यादा मन करता है. लेकिन आपको इनसे बचकर रहना है, वरना आपकी सेहत खराब हो सकती है (Bad for health).

गर्मियों में डाइट में करें बदलाव

गर्मी के मौसम में बीमार पड़ने से बचने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप शरीर को अंदर से ठंडा रखें (Keeping your body cool). इसके लिए आपको अपने खान-पान में थोड़ा सा बदलाव करना चाहिए. लिहाजा अपनी डाइट में इन फूड्स को जरूर शामिल करें.

1. तरबूज- तरबूज (Watermelon) गर्मियों के लिहाज से सबसे अच्छा फल है क्योंकि इसमें 92 से 93 प्रतिशत तक पानी होता है. यह एक ऐसा फल है जिसे खाने के बाद आपको प्यास नहीं लगती और शरीर में पानी की कमी भी नहीं होती. तरबूज शरीर को अंदर से ठंडा रखता है.

2. टमाटर- एंटीऑक्सिडेंट्स, विटामिन सी और लाइकोपीन से भरपूर टमाटर (Tomato) आपकी स्किन के साथ ही ओवरऑल हेल्थ के लिए भी फायदेमंद है. सूरज की रोशनी से स्किन को होने वाले नुकसान से भी बचाता है टमाटर. आप चाहें तो टमाटर को सलाद, रायता, सैंडविच किसी भी रूप में खा सकते हैं.

3. आम का पना- गर्मियों का मौसम सिर्फ पके हुए मीठे आम का नहीं बल्कि कच्चे और खट्टे आम का भी होता है ताकि आप उनका पना बनाकर पी सकें. कच्चे आम का पना (Aam Panna) लू लगने से बचाने में मदद करता है.

4. बेल का शरबत- कच्चे आम की ही तरह बेल भी लू लगने से बचाने में मददगार साबित हो सकता है. गर्मी के मौसम में बेल का शरबत (Bel Sharbat) भी काफी फायदेमंद माना जाता है.

5. छाछ- गर्मी के मौसम में पसीना अधिक निकलने की वजह से शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स का बैलेंस बिगड़ जाता है. छाछ (Buttermilk) में दही के अलावा नमक और पानी होता है जो शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स के बैलेंस को बनाए रखने में मदद करता है. लिहाजा एक गिलास छाछ गर्मी में आपको एनर्जी देता है और थकान से भी बचाता है.

(नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!