February 22, 2024

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 18 अप्रैल 2021 कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus second wave) की रफ्तार दिनों दिन तेजी से बढ़ रही है. 24 घंटे में संक्रमित होने वाले नए मरीजों का आंकड़ा 2 लाख के आंकड़े को भी पार कर गया है. एक्सपर्ट्स की मानें तो कोरोना का यह नया रूप ज्यादा संक्रामक है (More infectious) इसलिए 2020 की तुलना में ज्यादा तेजी से फैल रहा है. यही कारण है मौसम में बदलाव (Change in weather) होने की वजह से भी अगर किसी को हल्का सा बदन दर्द या छींक भी आ रही है तो उन्हें कोरोना का डर सता रहा है.

कोल्ड, फ्लू और कोरोना के बीच क्या है अंतर

सर्दी-खांसी, बुखार, बदन में दर्द, गले में खराश- ये कुछ ऐसे लक्षण हैं जो कॉमन कोल्ड (Common cold), फ्लू (Flu) और कोरोना वायरस (Coronavirus) तीनों में नजर आते हैं. यही कारण है कि बहुत से लोग यह अंतर नहीं कर पा रहे हैं कि उन्हें सामान्य सर्दी-जुकाम और वायरल फ्लू हुआ है या फिर कोरोना वायरस. हालांकि अगर आपको किसी भी तरह का संदेह महसूस हो तो तुरंत कोरोना का टेस्ट (Coronavirus test) करवाएं ताकि समय पर इलाज शुरू हो सके और आप दूसरों को संक्रमित न करें. इसके अलावा कोल्ड, फ्लू और कोरोना के लक्षणों के बीच मुख्य अंतर क्या है, यहां जानें.

कोरोना के लक्षण 1 से 14 दिन के अंदर दिखते हैं

जिन लोगों को सर्दी-जुकाम या फ्लू होता है उनमें बीमारी के लक्षण आम तौर पर 1 से 4 दिन के अंदर डिवेलप होने लगते हैं तो वहीं कोरोना के लक्षणों को सामने आने में 1 से 14 दिन का समय लगता है. फ्लू के लक्षण अचानक ही दिखने लगते हैं तो वहीं, कोरोना और कोल्ड यानी सर्दी जुकाम के लक्षण धीरे-धीरे बढ़ते हैं.

सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता चली जाए तो तुरंत टेस्ट करवाएं

बुखार (Fever), खांसी और कफ (Cough) के साथ ही अगर सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता (Loss of smell and taste) भी चली जाए तो यह कोरोना वायरस का सबसे आम लक्षण है. लेकिन फ्लू और सर्दी-जुकाम में ऐसा नहीं होता. नाक बंद होने पर आपको सूंघने में दिक्कत महसूस हो सकती है लेकिन सूंघने की शक्ति पूरी तरह से खत्म नहीं होती. डॉक्टरों की मानें तो बुखार, सांस लेने में तकलीफ महसूस होना (Difficulty in breathing), बदन दर्द, गले में खराश या दर्द, नाक बहना, डायरिया और सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता का खत्म हो जाना- कोरोना वायरस के लक्षण हैं. वहीं, मौसमी फ्लू या सर्दी-जुकाम में बुखार, गले में दर्द, बदन दर्द, नाक बहना, नाक जमा होना और थकान जैसे लक्षण दिखते हैं.

4 से 6 दिन के अंदर तबीयत ठीक न हो तो टेस्ट करवाएं

सिर्फ छींक आना (Sneezing) या सिर्फ खांसी (Cough) आना कोरोना वायरस का लक्षण नहीं है. लेकिन अगर आपको साथ में बुखार भी हो तो तुरंत खुद को आइसोलेट करें और टेस्ट करवाएं. ठीक उसी तरह सिर्फ नाक बहना या नाक बंद होना (Runny nose) कोरोना वायरस का संकेत नहीं है. यह मौसम में बदलाव की वजह से भी हो सकता है. आने वाले दिनों में बुखार और अन्य लक्षणों पर नजर रखें. अगर 4 से 6 दिन के अंदर तबीयत ठीक न हो तो तुरंत कोरोना का टेस्ट करवाएं. डॉक्टरों की मानें तो कोरोना की इस नई लहर में कई मरीजों को पेट में दर्द, उल्टी, दस्त, सिर में दर्द जैसे लक्षण भी नजर आ रहे हैं.

(नोट: किसी भी उपाय को करने से पहले हमेशा किसी विशेषज्ञ या चिकित्सक से परामर्श करें.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!