May 21, 2024

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 10 मई 2020। कोरोना संकटकाल में मुख्यमंत्री के पेयजल आपूर्ति के सख्त आदेशो के बावजुद पूरे उपखण्ड क्षेत्र में जगह जगह पानी की किल्लत से नागरिक जुझ रहे है। हालांकि विभाग प्रयास करने की बात कहता है और मेनपॉवर नहीं होने की दुहाई भी देता है। परन्तु आज गांव दुसारणा पीपासरिया के 300 परिवारों की बस्ती बूंद बूंद पानी के लिए तरस गयी है। यहां मवेशियों को पिलाने के लिए पानी नहीं है। गांव में सात दिन से एक बूंद पेयजल आपूर्ति नहीं हुई है जिससे ग्रामीण परेशान है। गांव में हालात विकट है और ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव में सप्लाई देने के लिए एकमात्र टयुबवैल है एवं वह सात दिनों से खराब पड़ा है। ग्रामीणों ने गर्मी के हालात देखते हुए तुरन्त विभाग को सूचित कर दिया परन्तु अभी तक गांव के इस टयुबवैल में मोटर को ठीक करने संबंधी कोई कार्यवाही नहीं की गयी है। गांव की सार्वजनिक गुवाड़ में स्थित पानी की खेलिया भी सूख गई है एवं बेसहारा पशु प्यास से बेहाल है। ग्रामीणों का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान आर्थिक दिक्कतों का सामना कर रहे है और पानी भी खरीद कर पीना भारी पड़ रहा है। गरीब परिवार कई मिलों से पानी लाने को मजबूर है। गांव के बाबुलाल गोदारा ने प्यास के कारण मर रहे बेसहारा पशुओं के लिए एक टैंकर खरीद कर खेलियों में पानी भरवाया। ग्रामीणों ने एकस्वर में अधिकारियों से शीघ्र ट्युबवैल को ठीक करवाने की मांग की है।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव में ट्यूबवेल खराब होने से पेयजल किल्लत से जूझ रहे है मवेशी भी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!