नेता प्रतिपक्ष के घर में शोक, संवेदनाएं प्रकट कर रहें है प्रबुद्ध जन।







श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 14 मई 2022। राजनीति व सामाजिक संस्थाओं में पद के लिए नहीं समाज व देश सेवा के लिए युवा बढ़चढ़ कर कार्य करें। सदैव ये सीख देने वाले वाले वरिष्ठ कांग्रेसी कार्यकर्ता मदनलाल पारख नहीं रहें है। मध्यरात्रि बाद 2.30 बजे उनका देहांत हो गया और आज शाम 4.30 बजे उनके आवास से अंतिम शव यात्रा निकलेगी। पारख तेरापंथ समाज में सक्रिय स्वयंसेवी व पूर्व पार्षद मनोज पारख के पिता तथा नेता प्रतिपक्ष अंजू पारख के ससुर थे। पारख यूथ कांग्रेस के 20 वर्ष शहर अध्यक्ष रहें, कांग्रेस से पार्षद रहें व तेरापंथ भवन ऊपरलो के ट्रस्टी होने के साथ ही ओसवाल पंचायत भवन सहित अनेक संस्थाओं में उन्होंने सक्रिय सेवाएं दी है। पारख जीवनपर्यंत कांग्रेस से जुड़े रहें व कस्बे में पार्टी के बैनर तले कार्य किया। पूर्व विधायक मंगलाराम गोदारा ने पारख के देहांत पर शोक संवेदनाएं प्रकट की है। गोदारा ने कहा कि मदन पारख ने कांग्रेस पार्टी के लिए सच्चे सिपाही की तरह कार्य किया। इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तुलछिराम चोरड़िया, हुकमचंद पुगलिया, सुमेर पुगलिया, श्याम महर्षि, देवकिशन सोमानी, चांदरतन बलदेवा, रामचंद्र राठी ने शोक संतप्त परिवार के प्रति के अपनी संवेदना प्रकट की है।