February 29, 2024

उफ्फ ये गर्मी. जी हां सूरज की तपिश बढ़ रही है. तापमान में रोजाना बढ़ोत्तरी हो रही है. अप्रैल के शुरुआत में ही जून की गर्मी जैसा एहसास होने लगा है. गर्मी बढ़ते ही घर में और बाहर कोल्ड ड्रिंक और मिनरल वॉटर की खपत भी बढ़ जाती है. कोल्ड ड्रिंक पीने के अपने प्रभाव है.लेकिन उससे भी ज्यादा आपके लिए ये जानना जरुरी है कि कोल्ड ड्रिंक पीने के बाद उसी बोतल का इस्तेमाल आपने फ्रीज में पानी ठंडा करने के लिए किया तो क्या क्या खामियाजा आपको और आपके परिवार को भुगतना पड़ सकता है.

अमूमन जुगाड़तंत्र की ऐसी कई मिसालें आपको अपने आसपास दिख भी जाएंगी. गर्मी बढ़ते ही ज्यादा से ज्यादा पानी फ्रीज में ठंडा हो सके, इसके लिए कोल्ड ड्रिंक की बोतल में लोग पानी भर कर फ्रीज में रख लेते हैं.बस यहीं जुगाड़तंत्र सेहत के तंत्र को बिगाड़ सकता है.जिसके बारे में ज्यादातर लोगों को कुछ नहीं पता होता.सालों से लोग इस गलती को दोहरा रहे हैं.

मिनरल वॉटर या कोल्ड ड्रिंक पीते हैं समझ लिजिए ये काम की बात

मिनरल वॉटर या कोल्ड ड्रिंक की बोतल आपने खरीदी और पानी या कोल्ड ड्रिंक पीने के बाद खाली बोतल को अपने पास ही रख लिया. घर में या कार में और इसी के सहारे पानी पीने का जुगाड़ तलाश लिया तो आप बहुत भारी गलती कर रहे हैं. ऐसी बोतलें सिर्फ वन टाइम यूज करने के लिए होती है. एक बार इस्तेमाल करने के बाद इसे क्रश करके फेंक देना चाहिए.

प्लास्टिक बोतल का लंबे समय तक इस्तेमाल करना आपने लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है. आप भी जान लिजिए इससे होने वाले नुकसान के बारे में और साथ ही आसपास के लोगों से भी ये जानकारी साझा करें.

प्लास्टिक में होते हैं कई हानिकारक तत्व

प्लास्टिक की बोतल में पानी भर कर पीने वालों की तादात बहुत ज्यादा है. प्लास्टिक की बोतल में पानी रखने से इसमें fluoride और arsenic जैसे कई तत्व पैदा हो जाते हैं. ये तत्व धीरे धीरे अपना असर दिखाते हैं और शरीर को मुकसाने पहुंचाते हैं.

गर्मी में पिघलता है प्लास्टिक

जो लोग प्लास्टिक की बोतल में पानी भर कर कार में रख लेते हैं उनके लिए ये आदत बेहद घातक है. इसे समझने के लिए प्लास्टिक की बोतल में गर्म पानी डाल कर चेक कर सकते हैं. प्लास्टिक की बोतल में गर्म पानी डालने पर प्लास्टिक पिघलने लगता है. ठीक वैसे ही कार में रखी बोतल सूरज की रोशनी से गर्म हो जाती है जिससे डायॉक्सिन पैदा होते हैं.इससे ब्रेस्ट कैंसर की भी खतरा होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!