February 22, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 22 फरवरी 2021। हमेशा से हम सुनते आए हैं कि ताजा खाना (Fresh Food) हमारी सेहत के लिए अच्छा होता है और बासी भोजन कई बीमारियों को आमंत्रण देता है. लेकिन आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में ताजा खाना बनाना और उसे खाना हर किसी के लिए संभव नहीं हो पाता. समय के अभाव के चलते हम कई बार ज्यादा खाना पका लेते है और उसे अगले दिन सुबह के नाशते (Breakfast) या लंच के तौर पर गर्म करके दोबारा खा लेते है. लेकिन क्या आप जानते है कि यह हमारे सेहत के लिए बहुत हानिकारक होता है..  कई फूड्स में प्रोटीन अधिक होता है जिसे हम दोबारा री-हीट करते हैं इन फूड्स में बैक्टीरिया अधिक पनपते हैं. जो फूड पॉयजनिंग (Food Poisoning) का कारण बन सकते है. तो जानिए इन 5 फूड्स के बारे में जिसका अगर आप बासी खाने में प्रयोग कर रहे हैं तो इसे तुरंत बंद करें

1. आलू 
लगभग हर सब्जी में प्रयोग होने वाले आलू का सेवन हम रोज करते है. लेकिन बासी आलू आपकी सेहत के लिए नुकसानगदेह हो सकता है. एक रिपोर्ट की माने तो पके हुए आलू में एक ऐसा बैक्टीरिया पनपता है जो बॉटुलिज्म बीमारी का कारण होता है. जिससे आपको कमजोरी, धुंधला दिखाई देना, बोलने में दिक्कत होने जैसा महसूस होता है. इसलिए बेहतर है आप आलू का ताजा सेवन ही करें.

2. चावल
कुछ लोगों को बासी चावल या ठंडे चावल खाना पसंद होता है, जो कि गलत है. अगर आप भी बासी चावल खाते हैं तो आपको सावधान रहने की जरूरत है. दरअसल ठंडे या बासी चावल को दोबारा गर्म करके खाने से फूड पॉइजनिंग का खतरा बढ़ जाता है. चावल जब बासी हो जाता है तो इसमें बैसिलस सेरेअस नाम का बैक्टीरिया पनपता है. जिसके बाद एक निश्चित समय के बाद खाना खराब करने लगता है. इसलिए इससे खाने में बचना चाहिए.

3. अंडे का सेवन
अमेरिकी संस्‍थान फूड एंड ड्रग ऐडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) के रिसर्च की माने तो बासी अंडे या उससे बनी किसी तरह की डिश को दोबार गर्म करने नहीं खाना चाहिए. यह हमारी सेहत पर खराब असर डालते हैं. बासी अंडे में सैल्मोनमा नाम का बैक्टीरिया पनपता है, जिससे फूड पॉयजनिंग हो सकती है. ऐसे में आप ताजे अंडे का ही सेवन करें.

4.पालक
पालक खाना हमारी सेहत के लिए अच्छा माना जाता है लेकिन इसे बासी खाना या दोबारा गर्म खाना सेहत के लिए हानिकारक होता है. पालर को गर्म करने पर इसमें मौजूद नाइट्रेट कैंसर तक का कारण बन सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!