राजस्थान में स्कूल खिलाड़ियों के लिए लॉटरी नेशनल में मेडल लाओ, राजस्थान में नाैकरी पाओ




श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 27 नवम्बर 2019। राजस्थान में खिलाड़ियों की लॉटरी खुल गई है। अब स्कूल फेडरेशन ऑफ इंडिया एसजीएफआई की स्कूल स्तर की नेशनल प्रतियाेगिता में मेडल जीतने वाले तथा भारतीय ओलिंपिक संघ/पैरा ओलिंपिक कमेटी के नेशनल गेम्स में हिस्सा लेने पर भी सरकारी नाैकरी मिलेगी। नेशनल गेम्स में महज हिस्सा लेने पर ही नाैकरी देने वाला राजस्थान देश में पहला राज्य बन गया है। इसके लिए गहलाेत सरकार ने 2013 के राजस्थान विभिन्न सेवा नियमाें में संशाेधन किया है। हालांकि, इसमें विभागों द्वारा तय एलिजिलिबिटी क्राइटेरिया भी लागू होगा। खेलमंत्री अशोक चांदना ने कहा- ‘राजस्थान में अब नई कहावत गढ़ गई है, पढ़ोगे लिखोगे बनोगे नवाब, खेलोगे-कूदोगे बनोगे लाजवाब’।

सफलता के हिसाब से जुड़ेंगे अंक
जिस खिलाड़ी की जैसी सफलता होगी उसके हिसाब से उसके अंक जुड़ेंगे। अगर किसी खिलाड़ी ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीता है तो उसके, फिर नेशनल, स्टेट और अन्य टूर्नामेंट के अंक जुड़ने के बाद मैरिट तय होगी। इसके बाद विभाग अपने स्तर पर ट्रायल भी लेंगे और उसके अंक भी तय होंगे।

राज्य खेल होंगे, मिलेगी स्कॉलरशिप
राज्य सरकार पहली बार जनवरी में राज्य खेलों का आयोजन करेगी। खेलमंत्री अशोक चांदना ने कहा कि इन खेलों में विजेताओं को नौकरी तो नहीं मिलेगी, लेकिन स्कॉलरशिप दी जाएगी, जिससे कि खिलाड़ी खेलों में आगे की तैयारियां कर सकें।’