February 26, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 3 मई 2020। लाकडाउन के दौरान जहां लोग आर्थिक रूप में कमजोर हो रहे है लेकिन फिर भी क्षेत्रवासियों की ईमानदारी क्षेत्र का मान बढ़ा रही है। ईमानदारी की ताजा मिसाल देखने को मिली है तहसील के गांव बापेऊ में। बापेऊ निवासी मुखराम ज्याणी गांव से बीकानेर तक दूध सप्लाई करता है एवं हर रोज बापेऊ से सूडसर, शेरूणा होते हुए बीकानेर के लिए अपडाउन करता है। शनिवार रात्रि को उसे सूडसर से शेरूणा के बीच सड़क पर एक अटैची पड़ी मिली। उसने अटैची को उठा कर देखा तो उसमें बडी मात्रा में सोने के गहने, नकदी एवं कीमती सामान था। अटैची में स्वरूपदेसर निवासी सुमन देवी का परिचय पत्र भी मिला। लाखों रुपए के गहने होने पर भी मुखराम की नियत खराब नहीं हुई एवं मुखराम ने सीधे वह अटैची बापेऊ पुलिस चौकी इंजार्च हैड कांस्टेबल विद्याधर व कांस्टेबल भागीरथ को सुपुर्द कर दी। हैड कांस्टेबल विद्याधर ने बताया कि स्वरूपदेसर निवासी महिला के पति ने सूडसर क्षेत्र में कृषि कुंए को बुवाई के लिए किराए पर ले रखा था एवं रविवार को इस कृषि कुंए से काम समाप्त कर अपने गांव जा रहे थे। परिवार अपना सारा सामान लेकर पिकअप में जा रहा था एवं रास्ते में पिकअप से यह अटैची गिर गई। लाखों रुपए के गहने मिलने के बाद भी ईमानदारी की मिसाल प्रस्तुत करने वाले मुखराम ज्याणी पर पूरा बापेऊ गांव नाज कर रहा है। दूसरी और उस परिवार में अटैची गिर जाने के कारण कोहराम मचा हुआ था व वे लोग तलाश कर रहे थे। हेडकांस्टेबल विद्याधर ने उनको सूचना देकर बुलाया एवं अटैची सुपुर्द कर दी।

श्रीडूंगरगढ टाइम्स। युवक मुखराम ने महिला के पूरे गहने, सभी जरूरत कागजात, रूपए मंहगे कपड़े लौटा कर मिसाल कायम की है।
श्रीडूंगरगढ टाइम्स। युवक मुखराम ने अटैची लौटाई तो किसान परिवार की तो जैसे खुशियाँ लौट आई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!