February 23, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 25 फरवरी 2021। श्रीडूंगरगढ़ कस्बे में अपनी नियुक्ति के दौरान तीन लाख से अधिक रुपए का गबन करने का आरोपी बैंक कर्मचारी को श्रीडूंगरगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। थानाधिकारी वेदपाल शिवराण ने बताया कि आरोपी कर्मचारी आकाश महरिया बीकानेर निवासी है एवं वर्ष 2018 में एसबीआई बैंक की श्रीडूंगरगढ़ मुख्य शाखा में कार्यरत था। बैंक में एक दुर्घटना मृत्यु के बाद दावा प्रकरण में परिजनों के नाम से क्लेम राशि आई थी। यह राशि मृतक के वारिसानों के बजाए महरिया ने अपने रिश्तेदारों के खातें में डाल कर तीन लाख रुपए का गबन कर लिया था। इस संबध में बैंक मैनेजर ने गत 28 अक्टूबर 2020 को आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। जिसमें अब जांच अधिकारी एसआई लाल बहादुर ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। एसआई लाल बहादुर ने टाइम्स के पाठकों के लिए पूरे प्रकरण की जानकारी साझा की है। लाल बहादुर ने बताया कि एक सड़क दुर्घटना में मोटरयान दुर्घटना दावा अधिकरण द्वारा वर्ष 2017 के 18 अक्टूबर को 8.25 लाख रुपए का क्लेम पारित किया गया था और बैंक द्वारा न्यायालय के आदेशों के अनुसार क्लेम में मृतक के परिजनों के खातों में 5.25 लाख तो उसी समय दे दिए गए थे। मृतक के तीन बच्चे प्रेम, पूजा व अक्षय के नाबालिग होने एवं बैंक में खाता नहीं होने के कारण बैंक द्वारा एक-एक लाख रुपए के तीन बैंकर्स चैक बना दिए गए ताकि खाता खुलते ही एवं तीनों बच्चों के बालिग होने पर उनके खाते में पैसे डलवाए जा सके। अब बच्चों के बड़े होने पर उनके खाते बैंक में खुलवाए गए लेकिन मई 2020 तक तीनों बच्चों के खातों में पैसे नहीं आए तो उन्होने बैंक में सम्पर्क किया। ऐसे में बैंक में अपने स्तर पर जांच की गई तो सामने आया कि बैंक के ही कर्मचारी आकाश महरिया ने वर्ष 2018 में ही इन बैंकर्स चैक को कैंसिल कर दिया एवं ये तीन लाख रुपए अपने तीन रिश्तेदारों के खातों में जमा कर गबन कर लिया। विदित रहे कि आरोपी महरिया द्वारा श्रीडूंगरगढ़ में गबन करने के बाद बीकानेर व्यास कॉलोनी ब्रांच में तबादला हो गया था एवं यह प्रकरण सामने आने एवं बैंक की आंतरिक जांच होने के बाद आरोपी को गबन का दोषी मानते हुए उसे निलंबित भी कर दिया गया था। अब उसे गिरफ्तार कर लिया गया है व आज न्यायालय में पेश किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!