नेनो यूरिया अपनाएं किसान और मृदा, जल व वायु मित्र बनें, पढें पूरी खबर।




श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 19 फरवरी 2022। गांवो के विकास की मजबूत कड़ी सहकारिता है और किसानों को खाद, बीज, रसायन, राशन व सरकार द्वारा प्रदत अन्य अनुदानित उत्पादों की उपलब्धता, दरों व गुणवत्ता के लिए आमजन का भरोसा सहकारिता पर ही है। सभी व्यवस्थापक इस विश्वास को ओर मजबूत करने की जिम्मेदारी उठाएं व किसान हित में कार्य कर अपना योगदान देवें। ये बात कृषि विभाग परिसर, बीकानेर में शुक्रवार को आयोजित क्षेत्रीय सहकार गोष्ठी में मुख्य अतिथि राजेश टाक ने उपस्थित सभी व्यवस्थापकों से कही। इफको कंपनी के किशन सिंह ने नैनो यूरिया के लाभ बताते हुए किसानों तक इसके फायदे पहंचाने की बात कहते हुए इस उन्नत तकनीक उर्वरक से मृदा, जल व वायु प्रदुषण से सुरक्षा अपनाने की अपील की। विजयसिंह लांबा ने समारोह का संचालन करते हुए भी नैनो यूरिया के फायदे बताएं। लांबा ने किसानों से नैनो यूरिया अपनाकर भूमि, जल, वायु के मित्र बनने की बात कहते हुए बताया कि फसलों की गुणवत्ता पर भी ये बहुत असरकारक है। लांबा ने अभियान चला कर किसानों को जागरूक करने के आयोजनों की जानकारी दी। रामनिवास नैण ने बताया कि परियोजना के निदेशक जगदीश पूनियां व अनिल विश्नोई ने भी व्यवस्थापकों को संबोधित किया। इस दौरान गोष्ठी में रविन्द्र डागा, निकित लांबा, विजयपाल सिंह राठौड़ भी उपस्थित रहें।