प्रवासी नागरिकों का गृहगांव प्रवेश प्रारम्भ, उत्सव नहीं मनाना और क्वारेंटाइन का पालन करवाना है। सिलीगुड़ी से भी लौट रहे है कस्बेवासी।




श्रीडूंगरगढ टाइम्स 3 मई 2020। दूसरे राज्यों की सरकारों द्वारा घर लौट जाने की अनुमति के बाद अभी राज्य की सरकारी व्यवस्थाओं के परवान नहीं चढी है परन्तु प्रवासियों को लाना प्रारम्भ कर दिया गया। अभी सुविधाऐं कम हो पा रही है और नागरिकों का गृहगांव प्रवेश प्रारम्भ हो गया है। शनिवार को गांव दुलचासर में 35 प्रवासी बस व निजी वाहनों द्वारा अपने घर, गांव पहुंचे है। इसके साथ ही जिम्मेदारी क्षेत्र के रहवासियों की बढ गयी है। कोरोना के खतरे से सभी परिचित हो गए है और अब जरूरत है इन सभी प्रवासियों को सहयोग करें और इन्हे होम आइसोलेट रहने की प्रेरणा देवें। प्रशासन अपने स्तर पर कार्य मुस्तैदी से कर रहा है परन्तु सभी मिल कर अपनी भागीदारी निभाए तो संभवत हमारा श्रीडूंगरगढ क्षेत्र सुरक्षित रहा है और आगे भी सुरक्षित रहेगा। काम के लिए बाहर गए ये युवक लम्बें समय बाद अपने घरों तक पहुंचे है इस खुशी में घरों में उत्सव नहीं मना कर इनसे पर्याप्त दूरी रख कर इन्हें हवादार साफ स्थान पर रखना है।

दुलचासर में 35 प्रवासी सभी को होम क्वारेंटाइन किया

श्रीडूंगरगए टाइम्स। गुजरात में सुरत व अहमदाबाद कोरोना के हॉटस्पॉट होने के कारण दुलचासर प्रशासन शनिवार को तुरन्त एक्टिव हुआ। डॉ. चित्रा गुर्जर के नेतृत्व में चिकित्सा कर्मियों ने इनकी स्क्रिनिंग की और इन सभी को होम क्वारेंटाइन करवाया। क्वारेंटाइन सेंटर के प्रभारी एहसान अली, संतोष सारस्वत,  रामेश्वरलाल भादू,  सोहनराम इंदलिया ने इनके 50-50 हजार प्रत्येक का मुचलका भरवाया और इन्हें होम आइसोलेट के सभी नियम समझाऐं। अब गांव में ये सभी कर्मचारी इन सभी पर नजर रखेंगे। कितासर, सुरजनसर, बिग्गा, श्रीडूगरगढ में देर रात से नागरिकों के पहुंचने का सिलसिला जारी है।

सिलीगुड़ी से आ रहे है प्रवासी श्रीडूंगरगढप्रवासी

श्रीडूंगरगढ टाइम्स। सिलीगुड़ी से रवाना होकर एक बस द्वारा श्रीडूंगरगढ के प्रवासी लौट कर आ रही है। वार्ड 25 के निवासी सीताराम गोदारा ने जानकारी देते हुए टाइम्स को बताया कि राजस्थान सरकार की बस में निशुल्क उन्हें प्रवासियों को लाया जा रहा है और वे परसों तक श्रीडूंगरगढ पहुंच जाएंगें। उन्होंनं बताया कि बस कोटा से विद्यार्थियों को लेकर वहां गयी आते समय यहां के लोगों को लेकर आ रही है। ये 40 बसें है और सीताराम गोदारा की बस में पांच श्रीडूंगरगढ निवासी है। उन्होंने बताया कि देर से ही सही घर लौट आने की खुशी हम सब को है और अब बस अपने इलाके में पहुंचने का इंतजार बेसब्री से कर रहें है। गोदारा ने बताया कि हमें सिलीगुड़ी जिलाकलेक्टर, उपखण्ड अधिकारी ने उपस्थित होकर बसों को रवाना किया और सभी को पास जारी किए।

जनजागृति मंच के संयोजक तोलाराम मारू ने सिलीगुडी के तृणमूल नेता व बंगीय हिन्दीभाषी सम्मेलन के संयोजक संजय शर्मा के प्रयासों के लिए उनका आभार प्रकट किया है।