March 1, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 21 नवबंर 2020। अगला वर्ष 2021 श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र की साहित्यिक संस्था राष्ट्रभाषा हिंदी प्रचार समिति का डायमंड वर्ष होगा और इसे “हीरक जयंती” के रूप मनाने के लिए समिति से जुड़े सभी साहित्यकार उत्साहित है। आज समिति के अध्यक्ष श्याम महर्षि ने हीरक जयंती का ब्रोशर जारी करते हुए बताया कि संस्था भाषा, साहित्य, संस्कृति, कला, इतिहास व शोध के क्षेत्र में 60 वर्षो से सक्रीय है। संस्था की स्थापना 1 जनवरी 1961 को हुई और संस्था के हीरक जयंती वर्ष में अनेक आयोजन किए जाएंगे। महर्षि ने बताया कि संस्था विभिन्न क्षेत्रों की 61 प्रतिभाओं को हीरक जयंती वर्ष में पुरस्कृत व सम्मानित करेगी। संस्था के मंत्री रवि पुरोहित ने बताया कि संस्था का साहित्य अकादमी, राजस्थान साहित्य अकादमी, राजस्थानी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, माध्यमिक शिक्षा, राजस्थान, आईसीएचआर सहित देश-प्रदेश की अनेक संस्थाओं से मान्यता प्राप्त व सम्बद्ध संस्था होना तथा संगीत नाटक अकादमी, भाषा विभाग, जवाहर कला केन्द्र, संस्कृति मंत्रालय, मानव संसाधन मंत्रालय सहित अनेक प्रतिष्ठित संस्थाओं के आयोजनों से जुड़े होना पूरे प्रदेश के लिए गौरव का विषय है। उपाध्यक्ष बजरंग शर्मा के अनुसार संस्था डायमंड जुबली वर्ष में भाषा, साहित्य, संस्कृति, कला, इतिहास, शिक्षा, शोध, पत्रकारिता व सामाजिक सरोकारों सहित विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान के लिए विद्वानों व प्रतिभाओं को सम्मानित व पुरस्कृत किया जाएगा। विगत 60 वर्षो में संस्था द्वारा पुरस्कृत या समादृत विद्वानों और वर्तमान कार्यसमिति, सलाहकार मण्डल व पदाधिकारियों के अतिरिक्त विज्ञजन के प्रस्ताव या आवेदन (पूर्ण परिचय सहित) 31 दिसम्बर तक संस्था को जरिए ई मेल [email protected] या डाक से भेजे जा सकते हैं। विभिन्न अवसरों पर आयोजित प्रतियोगिताओं के विजेताओं का प्रस्ताव भी विचारार्थ स्वीकार्य होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!