February 23, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 29 अगस्त 2020। गांव सातलेरा में बरसात के दौरान गांव के बीच में जोरदार धमाके साथ 11 हजार केवी का बिजली का तार टूट गया जिससे वहीं पड़े कचरे में आग लग गयी एकबारगी गांव में हड़कंप सा मच गया। सातलेरा जीएसएस पर तुरंत फोन कर गांव की बिजली सप्लाई बंद करवाई गयी। मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्र हो गए और कोई बड़ा हादसा होने से टल गया।
गांव का मुख्य ट्रांसफार्मर पेड़ में जकड़ा हुआ, ग्रामीणों में रोष।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव सातलेरा में एक पेड़ करंट पेड़ के नाम से प्रसिद्ध हो गया है और ग्रामीणों में इससे भय व्याप्त रहता है। घरेलू बिजली आपूर्ति का मुख्य ट्रांसफार्मर कीकर के पेड़ में पूरी तरह से उलझा हुआ है और खुलेआम खतरे को निमत्रंण दे रहा है। ये पेड़ गांव की मुख्य सड़क पर है यहां से दिन रात आवागमन होता है। पेड़ की टहनियाँ इतना नीचे लटक गयी है कि आते जाते लोगों का स्पर्श करती है। ग्रामीणों ने बताया कि बरसात के दौरान पूरे पेड़ में करंट दौड़ता है, आंधी आए तो भी पूरे पेड़ की टहनियां जलती हुई नजर आती है। आसपास से गुजरने वाले ग्रामीण भयाक्रांत रहते है ग्रामीणों ने बताया कि कई बार विभाग से इस पेड़ को कटवा कर ट्रांसफार्मर को ठीक करने की मांग कर चुके है परन्तु विभाग कोई सुनवाई नहीं कर रहा है और किसी अनहोनी के भय से ग्रामीणों में रोष नजर आ रहा है।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। गांव सतलेरा में 11 हजार केवी की लाइन का तार धमाके के साथ टूट कर नीचे गिर गया।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। सतलेरा में मुख्य सड़क पर घरेलू विद्युत आपूर्ति का ट्रांसफार्मर कीकर के पेड़ में बुरी तरह उलझा है, पूरे पेड़ में करंट दौड़ता है, नहीं हो रही विभाग में सुनवाई।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। मौके पर एकत्र ग्रामीणों ने रोष जताते हुए पुराने तारों के बार बार टूट जाने की बात कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!