July 19, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 14 जून 2024। कुछ दिन पहले सर्वसम्मति से निर्विरोध अध्यक्ष चुन कर सामाजिक संस्थाओं के लिए प्रेरणा देने वाले तेरापंथी जैन समाज में अब निर्वाचन के नाम पर सर-फुटव्वल की नौबत आ गई है। यहां जैन सभा का निर्वाचन निविर्रोध होने के बाद हर समाज की संस्था के लिए प्रेरणा का माहौल बना था एवं क्षेत्र में भी इस पहल का स्वागत, सकारात्मक चर्चाओं के साथ हुआ था। वहीं गुरूवार को हुए तेरापंथ युवक परिषद के चुनावों में एक पक्ष को निर्वाचित घोषित करने के बाद दूसरे पक्ष ने धांधली के आरोप लगाते हुए तेरांपथ सेवाकेन्द्र के समक्ष धरने पर बैठ गया है। शुक्रवार सुबह से एक युवक ने विरोध स्वरूप अनशन भी शुरू कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरूवार शाम तेरांपथ भवन धोलिया नोहरा में हुए निर्वाचन में अध्यक्ष पद के लिए मनीष नौलखा, प्रदीप मालू, संजय पुगलिया व अमित बोथरा चुनाव मैदान में थे। जिनमें से अमित बोथरा एवं प्रदीप मालू ने अपना नामांकन वापस ले लिया था। इसके बाद हुए मतदान में 77 सदस्यों ने मताधिकार का प्रयोग किया। जिनमें से मनीष नौलखा एवं संजय पुगलिया दोनो को 38-38 वोट मिले व 1 वोट खारीज किया गया। इसके बाद टोस के आधार पर मनीष नौलखा को विजयी घोषित किया गया। बस यहीं से विवाद शुरू हो गया एवं परिणामों की घोषणा के बाद ही दूसरे पक्ष ने एक वोट को गलत तरीके से खारीज करने का आरोप लगाते हुए तेरांपथ सेवाकेन्द्र के बाहर धरना शुरू कर दिया। रात को ही धरनास्थल पर गद्दे बिछ गए एवं सुबह होते-होते टेंट भी लग गया। रात भर जय भिक्षू का जाप भी युवकों ने किया व केन्द्रीय पदाधिकारियों तक सूचना पहुंचाई। लेकिन दोपहर तक सुनवाई नहीं होने पर यहां धरने पर बैठे युवकों में से अशोक झाबक ने अनशन भी शुरू कर दिया है। हालांकि इस संबध में समाज के वरिष्ठ जनों ने धरने पर पहुंच कर समझाईश का प्रयास भी किया है लेकिन अभी तक मामला अटका हुआ ही है।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। विरोध स्वरूप एक पक्ष ने शुरू किया धरना प्रदर्शन।
error: Content is protected !!