March 1, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 11 नवम्बर 2020। प्रधान एवं जिला प्रमुख के चुनावों में दमखम से मैदान में डटी भाजपा को एक बड़ा झटका लगा है कि उनके एक प्रत्याशी का पर्चा आज खारीज हो गया है। इसके बाद क्षेत्र में बड़ी राजनैतिक हलचल देखने को मिल रही है। श्रीडूंगरगढ़ क्षेत्र में जिला परिषद के 26, 27, 28 और 29 नम्बर वार्ड है इनमें से वार्ड 28 के भाजपा प्रत्याशी का नामांकन आज खारीज हो गया है। वार्ड 28 में क्षेत्र के गांव सतासर, लिखमादेसर, ठुकरियासर, तोलियासर, जैतासर, धीरदेसर चोटियान, कुंतासर, कितासर भाटियान, कितासर बीदावतान, जैसलसर, बाना व रिड़ी आते है एवं भाजपा ने यहां से सुशीला पत्नी अजीतसिंह को अपना प्रत्याशी बनाया था। जिला परिषद में जिला प्रमुख के दावेदार भाजपा की और से केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल के पुत्र रविशेखर मेघवाल माने जा रहे है एवं केन्द्रीय मंत्री के बीकानेर स्थित कार्यालय से रविशेखर मेघवाल के निर्देशन में ही जिला परिषद के समस्त पर्चे भरवाए गए थे। ऐसे में अब भाजपा जहां पूरे जिला परिषद में 29 की जगह 28 वार्डों में ही चुनाव लड़ रही है। भाजपा के सामने अब यह मुसीबत भी हो गई है कि इस वार्ड में कोई भी निर्दलीय प्रत्याशी भी नहीं है जिसे भाजपा अपना सर्मथन दे सके। वार्ड 28 में अब केवल माकपा के प्रत्याशी विमला पत्नी लेखराम व कांग्रेस से हेमी पत्नी टेमाराम ही मैदान में है एवं दोनो ही दल भाजपा के धूरविरोधी है। नामाकंन खारीज होने के कारण भाजपा में भी अंदरखाने कई चर्चाएं चल रही है एवं इस कारण एक सीट पर तो भाजपा चुनाव होने से पहले ही हार गई है।  जिले में जबरदस्त मुकाबले का सामना कर रही भाजपा के लिए यह गलती कहीं भारी पड़ सकती है एवं आजादी के बाद से ही जिला प्रमुख पद से दूर रही भाजपा के लिए इस बार और जिला प्रमुखी दूर ही रह सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!