April 22, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। आज अनशन पर बैठे ग्रामीण, प्रशासन के पिघलने के इंतजार में।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 15 जुलाई 2019। उपस्वास्थ्य केंद्र भवन के निर्माण की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे बरजांगसर के सरपंच ओर ग्रामीणों के सामने उस समय विकट स्थिति बन गयी जब प्रशाशन के प्रतिनिधि के रूप में अनशन पर पहुंचे तहसीलदार सुभाषचंद्र ने मांग पूरी करवाने के लिए 15 दिनों का समय मांग लिया। इस पर प्रशासन पर ग्रामीणो की हक की लड़ाई को हल्के में लेने के आरोप लगा रहे ग्रामीणों में रोष फैल गया। ग्रामीणों ने अनशन शुरू करने के 36 घंटे बीत जाने के बाद प्रशासन द्वारा सुध लेने और 36 घंटे तक भूखे प्यासे रहने के बाद भी 15 दिनों की मोहलत मांगने को पूरे बरजांगसर गांव और ग्रामीणों के संघर्ष का अपमान बताया। तहसीलदार के प्रस्ताव पर सरपंच प्रियंका सिहाग ने खुले मंच से ही ग्रामीणों के साथ चर्चा की ओर समस्त ग्रामीणों ने एकस्वर में प्रशासन के आश्वासन पर विश्वास नही करने की बात कही और सर्वसम्मति से भवन निर्माण की स्वीकृति नही मिलने तक अनशन ओर आंदोलन जारी रखने का निर्णय लिया। रविवार रात्रि करीब 8 बजे हुई यह वार्ता बिना निर्णय के ही रही। वार्ता विफल रहने के बाद सभी की निगाहें बरजांगसर पर टिकी हुई है क्योंकि 15 दिन ओर अनशन चलने का मतलब अनशनकारियों की जान से खिलवाड़ होगा। अब देखना यह है कि प्रशासन की कार्यशैली में बदलाव आते हुए ग्रामीणों की मांगें पूरी की जाती है या ग्रामीणों को अपना अनशन मरते दम तक जारी रखना पड़ता है। सोमवार को अनशन का तीसरा दिन शुरू हो गया है और ग्रामीणों को इस भीषण गर्मी में पानी के घूंट बिना अनशन पर बैठे नेमाराम, रामनिवास व प्रियंका के स्वास्थ्य के प्रति चिंता हो रही है। ग्रामीण प्रशासन के ढुलमुल रवैये से हैरान है।
सोमवार सुबह तीनो अनशनकारी सुस्त नजर आ रहे है पर उनकी हिम्मत ग्रामीणों को जोड़े रख रही है। पहले दिन गांव के 150 स्त्री पुरुषों ने अनशन रखा। दूसरे दिन 30 अन्य ग्रामीणों ने अनशन रखा था ओर सोमवार को तीसरे दिन भी बड़ी संख्या में ग्रामीणों के अपनी सरपंच के समर्थन में अनशन रखने की चर्चा हो रही है। स्थानीय नेता भी बरजांगसर के संघर्ष में शामिल हो रहे है वंही क्षेत्र की आम जनता भी इस आंदोलन को अपना नैतिक समर्थन दे रही है।

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। आज अनशन पर बैठे ग्रामीण, प्रशासन के पिघलने के इंतजार में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!