February 28, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 12 फरवरी 2024। श्रीडूंगरगढ़ शहर का बाजार लगातार बढ़ रहा है और ऐसे में कस्बे सहित आस पास के गांवो से बड़ी संख्या में ग्रामीण यहां खरीददारी करने रोजाना पहुंचते है। आजकल कस्बे के बाजार में बेसहारा सांडो की बढ़ती संख्या लोगों के लिए सिरदर्द बनने के साथ जान का खतरा बन रही है। इससे आमजन आतंकित है और जान माल पर मंडराते खतरे से परेशान है। बाजार में लगातार ये सांड नागरिकों को चोटिल कर रहें है। शनिवार को ही कस्बा निवासी एक महिला को एक सांड ने गिरा दिया जिससे उनकी दाएं हाथ की दो अंगुलियां टूट गई। गत दिनों एक बुजुर्ग ग्रामीण के कूल्हे की हड्डी सांड द्वारा गिराने पर टूट गई। बुजुर्ग का लंबा ईलाज उपजिला अस्पताल में चला व हड्डी के सहारे के लिए रॉड, स्क्रू डलवानी पड़ी। ये आवारा सांड लड़ते हुए अनेक गाड़ियों में भिड़कर गाड़ियां तोड़ देते है। मुख्य बाजार में इनके आंतक से बुजुर्ग तो बचते बचाते जरूरी काम हो तो ही बाजार आते है। बड़ी संख्या में घुम रहें ये बेसहारा पशु बाजार की हर गली में नजर आने लगे है। जहां सब्जियों के ठेले लगते है या सब्जीमंडी है वहां तो दहाई के आंकड़े में सांड व गौवंशी एकत्र हुए मिलेंगे। शहर की व्यवस्था के लिए जिम्मेदार अधिकारी व जनप्रतिनिधि पर बेपरवाही का इल्जाम नागरिक लगा रहें है। नागरिकों का कहना है कि इससे होने वाली घटनाओं की क्षतिपूर्ति जिम्मेदारों की जेब से करवाई जानी चाहिए ताकि उनकी आंखे खुल सकें। रविवार रात मुख्य बाजार में तीन सांड आपस में भिड़े आस पास के व्यापारियों ने मुश्किल से उन्हें हटाया। पुराना बस स्टैंड पर स्थित दुकानों के व्यापारी तरूण गुरनाणी, किशोर धनवानी, मूलचंद व्यास, अमित पारीक, मनीष पारीक, नंदकिशोर पारीक व राजू प्रजापत ने बताया कि अनेक बार खड़ी गाड़ियों में ये सांड बड़ा नुकसान कर देते है। अनेक बार दुकानों का सामान भी चपेट में आ जाता है। व्यापारियों ने बताया कि हमने नगरपालिका को अनेक बार शिकायतें की है परंतु कोई सुधार की गुंजाईश नजर नहीं आती है। नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर देखें मुख्य बाजार में चौक से पूरा वीडियो- https://fb.watch/q9Eu3CYUld/

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। सांडो की बढ़ती संख्या से लोग है आतंकित, जान माल के लिए बने खतरा।
error: Content is protected !!