February 23, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 5 नवंबर 2020।
🗓आज का पञ्चाङ्ग🗓

शास्त्रों के अनुसार तिथि के पठन और श्रवण से माँ लक्ष्मी की कृपा मिलती है ।
* वार के पठन और श्रवण से आयु में वृद्धि होती है।
* नक्षत्र के पठन और श्रवण से पापो का नाश होता है।
* योग के पठन और श्रवण से प्रियजनों का प्रेम मिलता है। उनसे वियोग नहीं होता है ।
* करण के पठन श्रवण से सभी तरह की मनोकामनाओं की पूर्ति होती है ।
इसलिए हर मनुष्य को जीवन में शुभ फलो की प्राप्ति के लिए नित्य पंचांग को देखना, पढ़ना चाहिए ।

🌻गुरुवार, 05 नवंबर 2020🌻

सूर्योदय: 🌄 06:55
सूर्यास्त: 🌅 17:45
चन्द्रोदय: 🌝 19:19
चन्द्रास्त: 🌜10:51
अयन 🌕 दक्षिणायने
ऋतु: ❄️ हेमंत
शक सम्वत: 👉 1942
विक्रम सम्वत: 👉 2077
मास 👉 कार्तिक
पक्ष 👉 कृष्ण
तिथि 👉 पञ्चमी – पूर्ण रात्रि
नक्षत्र 👉 आर्द्रा – पूर्ण रात्रि
योग 👉 शिव – 06:57 तक
करण 👉 कौलव – 17:59 तक
तैतिल – पूर्ण रात्रि तक
अभिजित मुहूर्त 👉 11:58-12:45
राहुकाल 👉 13:41-15:03
दिशाशूल 👉 दक्षिण
चंद्रवास 👉 पश्चिम
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰️〰️
॥ गोचर ग्रहा: ॥
🌖🌗🌖🌗
सूर्य 🌟 तुला
चंद्र 🌟 मिथुन
मंगल 🌟 मीन (उदित, पूर्व, वक्री)
बुध 🌟 तुला (अस्त, पश्चिम, मार्गी)
गुरु 🌟 धनु (उदित, पश्चिम, मार्गी)
शुक्र 🌟 कन्या (उदित, पूर्व, मार्गी)
शनि 🌟 मकर (उदय, पूर्व, मार्गी)
राहु 🌟 वृष
केतु 🌟 वृश्चिक
〰〰〰〰〰〰〰〰〰〰

☄चौघड़िया विचार☄
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
॥ दिन का चौघड़िया ॥
१ – शुभ =06:55-08:16
२ – रोग =08:16-09:37
३ – उद्वेग =09:37-10:59
४ – चर =10:59-12:20
५ – लाभ =12:20-01:41
६ – अमृत =01:41-03:03
७ – काल =03:03-04:24
८ – शुभ =04:24-05:45

॥रात्रि का चौघड़िया॥
१ – अमृत =05:45-07:24
२ – चर =07:24-09:03
३ – रोग =09:03-10:42
४ – काल =10:42-12:21
५ – लाभ =12:21-01:59
६ – उद्वेग =01:59-03:38
७ – शुभ =03:38-05:17
८ – अमृत =05:17-06:56

(पंडित विष्णुदत्त शास्त्री)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!