July 19, 2024

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स 29 जनवरी 2020। श्रीडूंगरगढ़ उपखण्ड मुख्यालय पर वर्षों से संचालित क्षेत्र के सबसे बडे राजकीय विद्यालय के रूप में स्थापित श्रीडूंगरगढ़ राजकीय उच्च माध्यिमक विद्यालय के पूर्व विद्यार्थियों ने अपने पुराने विद्यालय के प्रति अपने फर्ज अदा करने का निर्णय लिया है। विद्यालय प्राचार्य आदुराम जाखड़ की प्रेरणा से पूर्व विद्यार्थियों द्वारा वाटसअप ग्रुप बनाया गया एवं ग्रुप में सर्वसम्मति से सभी सक्षम पूर्व विद्यार्थियों द्वारा आपसी सहयोग से विद्यालय में संसाधनो का विकास करने का निर्णय लिया गया। इस क्रम मे सबसे पहले विद्यालय का भव्य प्रवेश द्वार बनाने का प्रस्ताव लिया गया एवं इसे मूर्त रूप देते हुए बसंत पंचमी के पर्व पर बुधवार को प्रवेश द्वार का शिलान्यास भी किया गया। शिलान्यास के मौके पर सेवानिवृत शिक्षाविद तारांचद इंदौरिया, ब्लाक मुख्य शिक्षा अधिकारी धर्माराम चौधरी अतिथि के रूप में पूर्व विद्यार्थी तोलाराम जाखड़, बिग्गा सरपंच जसवीर सारण, प्रभूराम गोदारा, विमल भाटी, भगवाननाथ सिद्ध, सहीराम जाट, रणवीर सिंह खिची, पवन शर्मा, एडवोकेट चंद्रप्रकाश बारूपाल, रमेश शर्मा, सीताराम गोदारा, रामकरण कडवासरा, महेश पिलानियां, चंद्रप्रकाश शर्मा, जगराम बाना, विशाल स्वामी आदि उपस्थित रहे। वर्ष 1990 के बाद के पास आउट विद्यार्थियों द्वारा की गई इस सराहनीय पहल का स्वागत पूरा क्षेत्र कर रहा है। बुधवार को पूरे कस्बे में हाईस्कूल के इन पूर्व विद्यार्थियों के इस सार्थक प्रयास की चर्चा हो रही है।
यह पहला प्रयास, योजना सतत सक्रियता की।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। हाईस्कूल के नाम से पूरे क्षेत्र में जाने जाना वाला ये विद्यालय के पूर्व विद्यार्थीयों के वाटसअप ग्रुप के एडमीन पैनल प्रतिनिधि रमेश शर्मा ने बताया कि भव्य प्रवेश द्वार निर्माण के लिए अनुमानित 4.5 लाख रुपए का खर्च आने की संभावना है एवं प्रत्येक पूर्व विद्यार्थी से सिमित रूप से 4-4 हजार रुपए ही लिए जा रहे है। हालांकि कई सक्षम पूर्व विद्यार्थियों एवं भामाशाहों द्वारा अपने स्तर पर अकेले ही द्वार बनाने का प्रस्ताव दिया गया था लेकिन किसी एक व्यक्ति से द्वार बनवाने के बजाए सामूहिक रूप से अधिकाधिक संख्या में पूर्व विद्यार्थियों को जोड़ने का लक्ष्य बना कर यह राशि एकत्र की जा रही है। इस कार्य में नहीं जुड पाने वाले सभी पूर्व विद्यार्थियों से भी जुडाव किया जा रहा है। चुंकि यहां पढे सभी पूर्व विद्यार्थियों को वर्तमान में इस विद्यालय में पढ़ने वाले विद्यार्थियों में अपने बचपन का अक्स दिखता है तो सभी का निर्णय यही है कि सतत इस ग्रुप के माध्यम से विद्यालय में शैक्षिक, सहशैक्षिक, खेल आदि गतिविधियां आयोजित करने, संसाधन विकसीत करने आदि के कार्य किए जाएगें। पूर्व विद्यार्थियों का अपने विद्यालय के प्रति सर्मपण देख कर संस्था प्रधान ने तो पूर्व विद्यार्थियों को अपना विद्यालय गोद ले लेने की अपील भी कर दी है।

पूर्व शिक्षक का किया सम्मान, बनाया अतिथि।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। पूर्व विद्यार्थियों द्वारा किए जाने वाले इस भव्य प्रवेश द्वार के निर्माण से पूर्व हुए शिलान्यास कार्यक्रम में विद्यार्थियों ने अपने पूर्व शिक्षक को ही अतिथि बना कर सम्मान दिया गया। उल्लेखनीय बात यह रही कि अतिथि बनाए गए ताराचंद इंदौरिया युवा विद्यार्थियों के ग्रुप सहित वर्तमान प्राचार्य आदुराम जाखड़ के भी गुरु रहे हुए है। इस मौके पर इंदौरिया ने युवाओं को जोश एवं उत्साह के साथ साथ आपसी समन्वय बनाए रखने की अपील की एवं श्रीडूंगरगढ़ के इस विद्यालय के जिला स्तर का सर्वश्रेष्ठ विद्यालय बनाने का आह्वान किया। शिक्षा विभाग के प्रतिनिधि अतिथि ब्लाक शिक्षा अधिकारी धर्माराम चौधरी ने युवाओं की इस पहल को आदर्श बताया एवं प्रभावी कार्य करने पर आस पास के क्षेत्रों के राजकीय विद्यालयों के पूर्व विद्यार्थियों के लिए उदाहरण बनने की बात कही। चौधरी ने शिक्षा विभाग द्वारा इस योजना में जुटे सभी पूर्व विद्यार्थियों का आभार जताया। संस्था प्रधान आदूराम जाखड़ ने विद्यालय में संसाधन विकास के साथ साथ नामांकन बढाने में भी सहयोग करने की अपील की एवं वर्तमान शिक्षक टीम द्वारा पूर्ण मनोयोग से पढ़ाने की जानकारी दी। कार्यक्रम में शिक्षाविद डा राधाकिशन सोनी, बालाराम मेघवाल सहित समस्त विद्यालय स्टाफ की उपस्थिती रही।

 

श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। हाईस्कूल में भव्य प्रवेश द्वार का शिलान्यास करते हुए पूर्व विद्यार्थी व शिक्षक।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। सर्वसम्मति से पास हुआ मुख्य दरवाजे के नक्शा।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। सर्वसम्मति से पास हुआ मुख्य दरवाजे के नक्शा।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। हाईस्कूल में भव्य प्रवेश द्वार का शिलान्यास करते हुए पूर्व विद्यार्थी व शिक्षक।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। हाईस्कूल में भव्य प्रवेश द्वार का शिलान्यास करते हुए पूर्व विद्यार्थी व शिक्षक।
श्रीडूंगरगढ़ टाइम्स। हाईस्कूल में भव्य प्रवेश द्वार का शिलान्यास करते हुए पूर्व विद्यार्थी व शिक्षक।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!