एक साथ हो सकेगी 40 प्रकार की जांचें एक साथ 39 लोगों की — जाने आपके शहर में कहां आयी रोबोटिक मशीन?

अतिथियों ने किया लोकार्पण।

श्रीडूंगरगढ टाइम्स 11 सितंबर 2019। कस्बे ने चिकित्सा जगत में एक कदम बढ़ाते हुए अत्याधुनिक तकनीक से लेस राबोटिक मशीन EM-200 और ECL-105 का लोकार्पण तुलसी सेवा संस्थान में किया गया। इस मशीन द्वारा  एक साथ 40 प्रकार की जांचे, व 39 लोगों की एक साथ हो सकेगी। अब जिन जांचो के लिए मरीजों को बीकानेर भागना पड़ता था वह यहीं हो सकेगी। तहसील में ऐसी सुविधा हो जाने पर आस पास के ग्रामीणों सहित कस्बेवासियों को राहत मिल सकेगी। पैथोलॉजी लैब में मशीन के बारे में जानकारी देते हुए विशेषज्ञ संजय पारीक ने बताया कि यह मशीन में 39 मरीजों की जांच एक साथ हो सकेगी पहले 2 मिनिट में पहली जांच आते ही आगे मरीज का सेम्पल जांच के लिए डाल सकेंगे। और आगे के मरीजों की रिपोर्ट मात्र 18 सेंकिड में आ सकेगी। मरीज की मशीन एक साथ 40 प्रकार की जांचे कर सकेगी। मरीज के बारकोड से इसकी सत्यता कायम रहेगी व मशीन बिना रूके लगातार कार्य कर सकती है। यह नयी तकनीक की मशीन क्षेत्र के लोगों के लिए वरदान साबित होगी और अधिकांश जांचे यहीं हो सकेगी।

हमारा लक्ष्य चिकित्सा क्षेत्र में श्रीडूंगरगढ को ऊँचाईयों तक ले जाना है- भीखमचंद पुगलिया

श्रीडुंगरगढ टाइम्स। हमारा लक्ष्य चिकित्सा क्षेत्र में श्रीडूंगरगढ को मेट्रों शहरों की तरह आधुनिक बनाने का  है। आचार्य तुलसी के मार्गदर्शन में हमने जो सेवा का संकल्प लिया वह प्रकल्प हम तन मन से पूरा कर रहें है। ये कहा भीखमचंद पुगलिया ने आज तुलसी सेवा संस्थान में लोकार्पण कार्यक्रम में बोल रहे थे। पुगलिया ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की। पुगलिया ने तेरापंथ के आद्य आचार्य भिक्षु के 217वें चरमोत्सव दिवस की बधाई देते हुए कहा कि शहर के अच्छे के लिए इस संस्था का निर्माण किया गया व हम इसके लिए सदैव तत्पर रहेंगे।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि तहसीलदार सुभाषचंद्र ने कहा कि क्षेत्र के लिए गौरव की बात है कि ऐसी संस्था यहां कार्य कर रही है। उन्होने कहा कि समाज के प्रत्येक वर्ग का भला चिकित्सा से हो सकता है इस हेतु कोई प्रशासनिक सहायता हो तो हम तत्पर रहेंगे। लॉयन महावीर माली ने कहा कि इस आधुनिक मशीन से लोगों को बीकानेर नहीं जाना पड़ेगा और उनके समय व रूपये की बचत होगी। माली ने कहा कि संस्था द्वारा कई गरीब मरीजों का ईलाज करने में सहयोग किया जाता है। माली ने कहा कि हमारा कस्बा 96 गांवों को छूता है और यह एक्सीडेंट जोन होने के कारण यहां एक ब्लड बैंक का निर्माण भी होना चाहिए। माली ने आवाह्न किया अपने क्षेत्र के विकास में सभी नागरिक आगे आ कर सहयोग करें। उन्होने कहा कि सरकारी अस्पताल में भी स्टाफ पूरा करने के लिए सरकार से मांग कि जाए। कार्यक्रम में तेरापंथ सभा के पूर्व अध्यक्ष धनराज पुगलिया ने कहा कि तुलसी सेवा संस्थान ने सेवा के क्षेत्र में नए प्रतिमान बनाएं है जो हमारे क्षेत्र के लिए गौरव की बात है। तोलाराम मारू ने कहा कि समाज के लिए जीने वाला व्यक्ति कभी मरता नहीं है उसके कार्यों से उसकी कीर्ति की सुंगध आती रहती है। उन्होंने कहा कि समाज को जो कर्म संदेश दे के जाएंगे वही यहां रहेगा और इस संस्था को बनाने में कई विभूतियों का योगदान ऐसा ही रहा है। साहित्यकार श्याम महर्षि ने आज के समय में खान पान की आदतें सुधारने व स्वास्थ्य का ध्यान रखने की बात कही। प्रशासक सूर्य प्रकाश गाँधी ने अतिथियों का आभार ज्ञापित किया व कहा कि संस्था क्षेत्रवासियों की सेवा के लिए सदैव तत्पर है।

अस्पताल में फिजियोथैरेपी विभाग का भी लोकार्पण किया गया। लोकार्पण समारोह में गोपाल राठी, बजरंग सेवग, शिव स्वामी,  सत्यनारायण स्वामी, निर्मल पुगलिया सहित शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

श्रीडूंगरगढ टाइम्स। मंच पर तोलाराम मारू, सुभाषचंद्र, धनराज पुगलिया, भीखमचंद पुगलिया विराजमान।
श्रीडूंगरगढ टाइम्स। रोबोटिक मशीन जो 40 प्रकार की जांचे करेगी।